बाजार जानकारों का कहना है कि Veranda Learning Solutions की लिस्टिंग 11 अप्रैल को इसके 137 रुपये प्रति इक्विटी शेयर के इश्यू प्राइस से 5-10 फीसदी प्रीमियम पर हो सकती है

हालांकि यह एक घाटे में चल रही कंपनी है लेकिन पॉजिटिव मार्केट कंडीशन और आईपीओ के जोरदार सब्सिक्रिप्शन को देखकर यह अनुमान लगाया जा रहा है

Veranda Learning Solutions का आईपीओ 29 माई को खुलकर 31 मार्च को बंद हुआ था 

यह 3.53 गुना भर कर बंद हुआ था। आईपीओ का रिटेल हिस्सा 10.76 गुना भरा था जबकि गैर संस्थागत निवेशकों का हिस्सा 3.87 गुना भरा था जबकि QIB का हिस्सा 2.02 गुना भरा था

कंपनी ने इस आईपीओ के जरिए 200 करोड़ रुपये जुटाए हैं

आईपीओ से जुटाए गए पैसे का इस्तेमाल कंपनी के कर्ज का भुगतान Edureka के अधिग्रहण में आए खर्च को पूरा करने और दूसरी विस्तार योजनाओं को पूरा करने में किया जाएगा

कंपनी क्या करती है ?

Veranda Learning Solutions की स्थापना 2018 में हुई थी । यह यूपीएससी, सीए, बैंकिंगृ और दूसरी सरकारी प्रतियोगी परीक्षाओं के स्टूडेंट्स को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह के लर्निंग सॉल्यूशन उपलब्ध कराती है

इसके अलावा कंपनी दूसरे ग्रेजुएट्स , प्रोफेशनल्स और कॉर्पोरेट इंप्लाइज को ट्रेनिंग और लर्निंग की सुविधा देती है

कंपनी में होने वाले रजिस्ट्रेशन में भारी बढ़ोतरी के साथ इसके आय में भी हाल के सालों में बढ़ोतरी हुई है। हालांकि कंपनी अभी भी घाटे में है। बता दें कि बाजार में इस सेगमेंट की कोई दूसरी लिस्टेड कंपनी नहीं है

अलग- अलग ब्रोकरेज हाउस ने इसपर अपनी अलग – अलग राय दी है लेकिन ज्यादातर ब्रोकरेज हाउस ने इस स्टॉक को avoid रेटिंग दी है 

इनका तर्क है कि यह कंपनी निगेटिव ऑपरेटिंग कैश फ्लो के साथ घाटे में चल रही है, इसलिए इससे दूर रहना ही बेहतर है