सोमवार को कॉमर्स एंड इंडस्ट्री मिनिस्ट्री की तरफ से जारी आंकड़ों में यह जानकारी दी गई , भारत का व्यापार घाटा (Trade Deficit) वित्त वर्ष 2022 में 87.5 फीसदी बढ़कर 192.41 अरब डॉलर रहा

इससे पिछले वित्त वर्ष में देश को 102.63 अरब डॉलर व्यापार घाटा हुआ था

क्या होता है निर्यात घाटा जब निर्यात (Import) कम होता है और आयात (Export) अधिक होता है, तो उसे व्यापार घाटा (Trade Deficit) कहते हैं। वही जब कोई देश आयात कम और निर्यात अधिक करता है तो उसे ट्रेड सरप्लस (Trade Surplus) कहते हैं

सरकार की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक, वित्त वर्ष 2022 में भारत ने रिकॉर्ड 417.81 अरब डॉलर का निर्यात किया। हालांकि इसके साथ भारत ने 610.41 अरब डॉलर की वस्तुओं का आयात भी किया

इस तरह निर्यात की तुलना में आयात अधिक रहने से देश का व्यापार घाटा वित्त वर्ष 2022 में 192.41 अरब डॉलर रहा

वहीं मार्च 2020 के मुकाबले यह 87.89 फीसदी अधिक है, जब देश ने 21.49 अरब डॉलर का एक्सपोर्ट किया था

कॉमर्स मिनिस्ट्री के मुताबिक, मार्च 2022 में देश ने 59.07 अरब डॉलर की वस्तुओं का आयात किया, जो मार्च 2021 के 48.90 अरब डॉलर के मुकाबले 20.79 फीसदी अधिक है। वहीं मार्च, 2020 के 31.47 अरब डॉलर के मुकाबले यह 87.68 फीसदी अधिक है

इंपोर्ट बिल में 31% योगदान पेट्रोलियम उत्पादों का है। वित्त वर्ष 2022 में कुल 18.4 अरब डॉलर के पेट्रोलियम उत्पाद आयात हुए, जो वित्त वर्ष में आयात हुए 10.2 अरब डॉलर के आयात से 80% अधिक है

सोमवार को कॉमर्स एंड इंडस्ट्री मिनिस्ट्री की तरफ से जारी आंकड़ों में यह जानकारी दी गई , भारत का व्यापार घाटा (Trade Deficit) वित्त वर्ष 2022 में 87.5 फीसदी बढ़कर 192.41 अरब डॉलर रहा

सोमवार को कॉमर्स एंड इंडस्ट्री मिनिस्ट्री की तरफ से जारी आंकड़ों में यह जानकारी दी गई , भारत का व्यापार घाटा (Trade Deficit) वित्त वर्ष 2022 में 87.5 फीसदी बढ़कर 192.41 अरब डॉलर रहा