खाद्य तेल बनाने वाली कंपनी रुचि सोया ने शुक्रवार को बताया कि अब वह पूरी तरह कर्ज मुक्त हो चुकी है। कंपनी ने FPO से जुटाए गए फंड का इस्तेमाल कर्ज चुकाने में किया

Ruchi Soya ने अपना 2,925 करोड़ रुपए का पूरा कर्ज चुका दिया है

बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि का Ruchi Soya पर मालिकाना हक है 

रुचि सोया ने हाल ही में फॉलो ऑन ऑफर यानी FPO से 4,300 करोड़ रुपए जुटाए थे। अपना कर्ज चुकाने के मकसद से ही कंपनी FPO लेकर आई थी

पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड के MD आचार्य बालकृष्ण ने ट्वीट करके बताया कि रुचि सोया अब पूरी तरह कर्ज मुक्त कंपनी बन चुकी है

कंपनी ने सेबी को दिए DRHP (ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्ट्स) में बताया था कि वह FPO से जुटाए फंड से 1950 करोड़ रुपए का कर्ज चुकाएगी

हालांकि कंपनी ने 2925 करोड़ रुपए का पूरा लोन चुका दिया है। यह पैसा SBI की अगुवाई वाले कंसोर्शियम को गया है

इस कंसोर्शियम में SBI के अलावा पंजाब नेशनल बैंक, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, सिंडिकेट बैंक और इलाहाबाद बैंक शामिल है

2019 में पतंजलि ने दिवालिया हो चुकी रुचि सोया को 4,350 करोड़ रुपए में खरीदा था

रुचि सोया का FPO 8 अप्रैल को NSE पर 855 रुपए और BSE पर 850 रुपए पर खुला था। कंपनी का इश्यू प्राइस 650 रुपए था

कंपनी के इश्यू में पैसा लगाने वाले इनवेस्टर्स को सिर्फ एक दिन में 30% तक का रिटर्न मिला। शुक्रवार, 8 अप्रैल को कंपनी के शेयर 14.71% चढ़कर 938 रुपए पर बंद हुए थे

पिछले दो दिन में रुचि सोया (Ruchi soya) का शेयर 750 रुपये से 885 रुपये (NSEपर इंट्राडे हाई) के स्तर पर पहुंच गया और इस दौरान शेयर में लगभग 18 फीसदी की मजबूती दर्ज की गई