भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने गुरुवार 7 अप्रैल को बेंगलुरु स्थित शुश्रुति सौहार्द सहकारा बैंक नियमिता (Shushruti Souharda Sahakara Bank Niyamita) पर कई तरह की पाबंदिया लगा दी हैं

RBI ने कहा कि बैंक बिना उसकी मंजूरी के अब लोन नहीं दे सकता और न ही जमा स्वीकार कर सकता है। RBI ने लोन रिन्यूअल पर भी पाबंदी लगाई है

RBI ने एक बयान में कहा, "सभी बचत खातों, चालू खातों या जमाकर्ताओं के किसी भी दूसरे खाते से कुल राशि में से 5,000 रुपये से अधिक की राशि निकालने की इजाजत नहीं दी जा सकती है

बैंक को अपनी वित्तीय सेहत में सुधार होने तक पाबंदियों के साथ बैंकिंग बिजनेस करने की अनुमति दी गई है, यह बंदिशें अगले 6 महीने तक लागू रहेंगी

इससे पहले RBI ने 3 कोऑपरेटिव बैंकों पर 5 लाख का जुर्माना लगाया था

यह जुर्माना नियमों का पालन ना करने की वजह से लगाई गई है। जिन 3 बैंकों पर पेनाल्टी लगाई गई है उनमें यशवंत कोऑपरेटिव बैंक लिमिटेड, फलटान पर 2 लाख रुपए का जुर्मान लगाया गया है

RBI के अनुसार  बैंक ने इनकम बताने, एसेट्स क्लासीफिकेशन और दूसरे मामलों में नियमों का पालन नहीं किया है

वहीं RBI ने कोलकाता के समता कोऑपरेटिव बैंक पर भी 1 लाख रुपए का जुर्माना लगाया है। इन सभी बैंकों पर रेगुलेटरी नियमों का पालन ना करने का आरोप है