पोस्ट ऑफिस की एक बेहद खास स्कीम है जो आपको आप महज 100 रुपये से भी निवेश करने की सुविधा देती है आइये जानते हैं इस स्कीम के बारे में विस्तार से

यह स्कीम है पांच साल की रेकरिंग डिपॉजिट स्कीम. पोस्ट ऑफिस रेकरिंग डिपॉजिट में बहुत कम पैसे से निवेश की शुरुआत कर सकते हैं

इसमें आप जो पैसे निवेश करते हैं उसकी सुरक्षा की भी गारंटी मिलती है और रिटर्न भी अच्छा मिलता है

पोस्ट ऑफिस (Post Office) रेकरिंग डिपॉजिट अकाउंट छोटी-छोटी किस्तों में जमा, अच्छी ब्याजदर और सरकारी गारंटी वाली स्कीम है

पोस्ट ऑफिस रेकरिंग डिपॉजिट स्कीम में मिनिमम 100 रुपए भी निवेश कर सकते हैं. इससे ज्यादा 10 के मल्टीपल में आप कोई भी रकम जमा करा सकते हैं

मैक्सिमम जमा राशि की कोई लिमिट नहीं है. दस के मल्टीपल में कितनी भी बड़ी रकम आरडी खाते में जमा की जा सकती है

पोस्ट ऑफिस में रेकरिंग डिपॉजिट का अकाउंट पांच सालों के लिए खोला जाता है. इस स्कीम में जमा पैसों पर ब्याज कैलकुलेशन हर तिमाही (सालाना रेट पर) होती है और इसे हर तिमाही के आखिर में आपके अकाउंट में जोड़ (चक्रवृद्धि ब्याज सहित) दिया जाता है

Post Office वेबसाइट के मुताबिक, स्कीम पर फिलहाल 5.8 प्रतिशत ब्याज मिल रहा है. यह नई दर 1 अप्रैल 2020 से लागू है. यह एक लघु बचत स्कीम है. भारत सरकार अपनी सभी लघु बचत योजनाओं की ब्याज दर की हर तिमाही पर घोषणा करती है

कोई भी व्यक्ति चाहे जितने आरडी अकाउंट्स खुलवा सकता है. मैक्सिमम अकाउंट की संख्या को लेकर भी कोई लिमिट नहीं है

लेकिन ध्यान रहे खाता सिर्फ व्यक्तिगत रूप से खुलवाया जा सकता है, परिवार (HUF) या संस्था के नाम पर नहीं. दो वयस्क व्यक्ति एक साथ मिलकर ज्वाइंट आरडी अकाउंट भी खुलवा सकते हैं

पहले से खुले किसी व्यक्तिगत आरडी खाते को कभी भी ज्वाइंट अकाउंट में बदल सकते हैं. इसके उलट भी, पहले से ओपन ज्वाइंट आरडी अकाउंट को कभी भी व्यक्तिगत आरडी खाते में भी बदल सकते हैं

अगर आप तय तारीख तक रेकरिंग की किस्त जमा नहीं करते हैं तो लेट किस्त के साथ आपको एक प्रतिशत हर महीने की दर से जुर्माना भी अलग से जमा करना होगा

साथ ही अगर लगातार चार किस्तें जमा नहीं की गईं तो अकाउंट बंद कर दिया जाता है. वैसे खाता बंद होने के बाद भी अगले दो महीनों तक उसे फिर से एक्टिव करा सकते हैं

इसके लिए होम पोस्ट ऑफिस (Post Office) में अप्लाई करना होता है और नई किस्त के साथ पिछली सभी किस्तें और पेनाल्टी की रकम जमा करनी होती है