PM kisan: 12 करोड़ लाभार्थी किसान अपनी 11वीं किस्त का इंतजार कर रहे हैं

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM Kisan Samman Nidhi) योजना के तहत अनिवार्य ईकेवाईसी (eKYC) कराने की डेडलाइन को सरकार ने 31 मार्च 2022 से बढ़ाकर 22 मई 2022 कर दिया है 

हालांकि समयसीमा बढ़ाने के बाद PM Kisan की वेबसाइट यानी पोर्टस से अब eKYC का विकल्प हट गया है 

PM Kisan की वेबसाइट के मुताबिक, "PM किसान के तहत रजिस्टर्ड किसानों के लिए eKYC कराना अनिवार्य है 

बायोमेट्रिक सत्यापन के लिए अपने नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) से संपर्क करें। ओटीपी के जरिए होने वाली आधार आधारित eKYC को अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया है 

इसका मतलब है कि किसान अब घर बैठे आधार और ओटीपी के इस्तेमाल से अपना eKYC नहीं कर पाएंगे 

अब उनके पास eKYC के लिए सिर्फ बायोमेट्रिक सत्यापन कराने का विकल्प है, जिसके लिए उन्हें अपने नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) जाना होगा 

बता दें कि PM किसान सम्मान निधि योजना की 11वीं किस्त पाने के लिए लिए किसानों को eKYC कराना जरूरी है 

जिन किसानों का eKYC नहीं पूरा होगा, उन्हें पीएम किसान सम्मान निधि की योजना की 11वीं किस्त के तहत 2,000 रुपये नहीं मिलेंगे 

ऑफलाइन ईकेवाईसी कराने के लिए किसान अपने नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) पर आधार कार्ड लेकर जा सकते हैं और बायोमेट्रिक सत्यापन के जरिए eKYC को पूरा कर सकते हैं 

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत मोदी सरकार देश के किसानों के अकाउंट में सीधे 6,000 सालाना ट्रांसफर करती है। ये पैसे सरकार किसानों को तीन किश्तों में जारी किए जाते हैं 

हर एक किश्त में किसानों को 2,000 रुपये दिए जाते हैं। हालांकि सरकार ने पीएम किसान योजना की 11वीं किस्त के लिए eKYC को अनिवार्य कर दिया है। करीब 12 करोड़ लाभार्थी किसान 11वीं किस्त के आने का इंतजार कर रहे हैं 

इसे भी पढ़ें PPF  में ज्यादा रिटर्न पाने के लिए अपनाएं यह तरीका, जरुरी बातें जिन्हें आपको जानना चाहिए