पेटीएम फाउंडर और सीईओ विजय शेखर शर्मा ने अपने शेयरहोल्डर्स को भेजे एक लेटर में लिखा कि उन्हें भरोसा है कि अगली छह तिमाहियों में उसका ऑपरेटिंग एबिटडा ब्रेकईवन में आ जाएगा

कंपनी ने जारी किया मार्च तिमाही का बिजनेस अपडेट

मार्च, 2022 में समाप्त तिमाही के लिए अपने ऑपरेटिंग प्रदर्शन पर अपडेट साझा करते हुए पेटीएम ने कहा कि चौथी तिमाही में कंपनी ने 65 लाख से ज्यादा कर्ज वितरित किए

जो पिछली तिमाही के 44 लाख से 374 फीसदी ज्यादा हैं। इन कर्जों की वैल्यू 3,553 करोड़ रुपये थी

एनालिस्ट्स के लगातार उसकी वैल्युएशन के संबंध में चिंताएं जाहिर किए जाने से कंपनी का शेयर अपने इश्यू प्राइस से आधे से भी कम रह गया है

6 अप्रैल को पेटीएम की पैरेंट कंपनी वन 97 कम्युनिकेशंस का शेयर 5 फीसदी की मजबूती के साथ 640 रुपये पर बंद हुआ

शेखर शर्मा ने आगे कहा, भरोसा रखिए, पेटीएम की पूरी टीम एक बड़ी, प्रॉफिटेबिल कंपनी खड़ी करने और लॉन्ग टर्न शेयरहोल्डर वैल्यू तैयार करने के लिए प्रतिबद्ध है

इसके साथ ही, मुझे स्टॉक ग्रांट्स (stock grants) तभी मिलेंगे, जब हमारी मार्केट कैप स्थायी आधार पर IPO के स्तर से ऊपर निकल जाएगी

क्या होते हैं स्टॉक ग्रांट

स्टॉक ग्रांट एक तरह का रिवार्ड होता है जो किसी लक्ष्य की प्राप्ति या बेहतर प्रदर्शन के लिए किसी व्यक्ति विशेष को दिए जाते हैं। ये आम तौर पर लॉयल्टी प्रदर्शित करने के लिए दिए जाते हैं

ये काफी हद तक कर्मचारियों को मिलने वाले स्टॉक ऑप्शन की तरह हैं। इनके साथ एक वेटिंग पीरियड जुड़ा होता है, जिसकी समाप्ति के बाद कर्मचारी या एग्जीक्यूटिव इन स्टॉक ऑप्शन का उपयोग कर सकता है और सामान्य रूप से स्टॉक के उस समय की मार्केट वैल्यू की तुलना में कम कीमत पर शेयरों की पोजिशन ले सकता है। साथ ही उन्हें एक निश्चित अवधि के बाद बेच भी सकता है