रूस और उक्रेन में शुरू हुवे युद्ध के चलते कच्चे तेल की कीमत लगातार बढती जा रही है 

वर्तमान में कच्चे तेल की कीमत 116$ प्रति बैरल के करीब चल रही है, एक समय में यह 148$ प्रति बैरल तक पहुँच गया था

क्योकिं भारत आपने कुल खपत का 80% कच्छा तेल विदेशों से आयात करता है, इसलिए तेल से जुडी हर छोटी-बड़ी खबर भारतीय economy को प्रभावित करती है 

एक नयी खबर के तहत OPEC (तेल उत्पादन करने वाले अरब देशों का ग्रुप) ने घोषणा की है की वो जुलाई के महीने से तेल उत्पादन क्षमता बढ़ाने जा रहा है

रूस भी कच्चे तेल का एक बड़ा उत्पादक देश है, इस समय युद्ध के चलते रूस द्वारा कच्चे तेल की आपूर्ति बाधित हुई है, जिसका असर सीधे तौर पर कच्चे तेल की कीमत पर पड़ी है 

ओपेक देशों ने प्रतिदिन 6 लाख 48 हज़ार बैरल कच्चे तेल का उत्पादन बढाने की घोषणा की है 

उप्तादन बढ़ने से कच्चे तेल की कीमत निचे आनी चाहिए जिसका असर भारत जैसे देशों की economy पर जरुर पड़ेगा, साथ ही महंगाई घटने का भी अनुमान जताया जा रहा है

आने वाले समय में देखना अहम् होगा ओपेक कितने समय के लिए उत्पदान में बढ़ोतरी करता है