LIC IPO: देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी LIC का IPO इस साल मार्च में आने वाला था। लेकिन बाजार के जबरदस्त उतार-चढ़ाव के कारण तब यह टल गया

LIC का इश्यू भारतीय शेयर बाजार के इतिहास का सबसे बड़ा IPO है। कंपनी की लिस्टिंग होने के बाद इसका मार्केट वैल्यूएशन RIL और TCS जैसी टॉप कंपनियों के बराबर पहुंच जाएगा

सूत्रों से बातचीत के आधार पर पता चला है कि सरकार मई में LIC का इश्यू लॉन्च करने की तैयारी में है  सूत्रों ने ये भी बताया कि सरकार LIC के इश्यू में 5% से ज्यादा हिस्सेदारी बेच सकती है

सूत्रों ने CNBC-TV 18 को ये भी बताया कि 8 मार्च को सेबी ने LIC को इश्यू बेचकर फंड जुटाने की अनुमति दे दी है

सेबी को जमा ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (DRHP) के मुताबिक, सरकार 31 करोड़ इक्विटी शेयर बेचेगी

IPO का एक पोर्शन एंकर इनवेस्टर्स के लिए रिजर्व होगा। इश्यू का करीब 10% हिस्सा पॉलिसीहोल्डर्स के लिए अलग रखा जाएगा 

सरकार पहले फिस्कल ईयर 2022 में अपनी 5% हिस्सेदारी बेचकर 63,000 करोड़ रुपए जुटाने की तैयारी में थी। लेकिन बाजार के उतार-चढ़ाव के कारण LIC का इश्यू मार्च 2022 तक लॉन्च नहीं हो पाया था

LIC का IPO पूरी तरह ऑफर फॉर सेल (OFS) होगा। इसमें सरकार अपनी हिस्सेदारी बेचेगी। कोई फ्रेश इश्यू जारी नहीं किया जाएगा

LIC में सरकार के पास 100% हिस्सेदारी यानी 632.49 करोड़ शेयर हैं। कंपनी के शेयरों की फेस वैल्यू 10 रुपए है

LIC का इश्यू भारतीय शेयर बाजार के इतिहास का सबसे बड़ा IPO है। कंपनी की लिस्टिंग होने के बाद इसका मार्केट वैल्यूएशन RIL और TCS जैसी टॉप कंपनियों के बराबर पहुंच जाएगा

LIC का इश्यू लाने के लिए सरकार के पास 12 मई तक का वक्त है। अगर सरकार 12 मई तक इश्यू नहीं ला पाती है तो उसे सेबी के पास दोबारा DRHP जमा करना होगा

सरकार ने 12 फरवरी को DRHP जमा किया था। इस हिसाब से 12 मई तक इश्यू लाना होगा