भारत का अब तक का सबसे बड़ा LIC IPO 4 मई से रिटेल और अन्य निवेशको के लिए खुलने जा रहा है 

इससे पहले Anchor Investor इसमें पहले ही खरीदारी कर चुके हैं 4 मई से इसमें रिटेल और दुसरे निवेशक शामिल होंगे

LIC का IPO अपने इम्बेडेड वैल्यू के 1.1 गुना वैल्यूएशन पर उपलब्ध है, जानकारों के मुताबिक यह रिज़नेबल वैल्यूएशन पर मिल रहा है |

इसमें lic के policyholder को 60 रूपये की छुट दी गयी है और रिटेल को 45 रूपये की उस हिसाब से lic के कारोबार को देखते हुवे यह ipo सही वैल्यूएशन पर मिल रही है 

LIC का embeded valuation 6 लाख करोड़ रूपये आँका गया है 

LIC के ipo को सक्सेसफुल बनाने के लिए सरकार ने ipo का सस्ता वैल्यूएशन रखा है जिसमे सरकार सिर्फ 3.5% ही हिस्सेदारी बेच रही है 

क्या यह ipo निवेशको के लिए सस्ता है तो जी हां बाज़ार जानकारों के अनुसार यह एक सस्ता ipo है 

LiC ipo में कुल 99 anchor इन्वेस्टर शामिल हैं जिनमे कुछ भारत के mutual funds भी शामिल हैं

Mutual funds में 28 mutual funds ने इसमें भाग नहीं लिया है और केवल 15 mutual funds ने ही इसमें पैसा लगाया है 

कुछ mutual funds के अनुसार LIC Insurance कारोबार के लीडर है और  इसके सस्ते वैल्यूएशन के कारण इसमें जोखिम भी ज्यादा नहीं है 

इन mutual funds के अनुसार lic के ipo में लोगों का नजरिया short term की बजाये long term का होना चाहिए, क्योकि लम्बे समय में यह अधिक लाभदायक हो सकता है 

LIC के पास insurance के अलावे रियल एस्टेट में भी भारी – भरकम कारोबार है 

Lic का इशू 4 मई से 9 मई तक खुला रहेगा जिसमे सभी रिटेल निवेशक हिस्सा ले सकते हैं

अगर कोई व्यक्ति LIC का policyholder है या फिर LIC का employee है तो वो 3 application लगा सकता है 

पहली application एक policyholder के तौर पर दूसरी वह एक general इन्वेस्टर के तौर पर और अगर वह lic का employee है तो वह एक ही PAN no पर 3 application लगा सकता है 

एक application के लिए आपको 2 लाख रूपये लगाने होंगे

6 करोड़ पालिसी होल्डर ने अपने pancard लिंक करवाए है और बहुत से demat account सिर्फ lic के ipo में निवेशक करने के लिए खोले गए हैं

यह पूरी तरह से आपका पैसा है इसलिए आप इसमें सोच समझकर ही निवेश करें, और अपना नजरिया लम्बे समय कम से कम 5 सालों के लिए रखे