पुरे देश में ज्ञानवापी विवाद चर्चा का विषय बना हुवा है आइये जानते हैं ये इतना चर्चा में क्यों हैं ?

वारानाशी में काशी विश्वनाथ मंदिर के बगल में एक परिसर है जिसमे ज्ञानवापी नाम से एक मस्जिद है

दावा किया जा रहा है की यहाँ आदि काल से एक मंदिर था जिसे औरंगजेब ने तुड़वाकर मस्जिद बना डाला

हिन्दू पक्ष का दावा है की इस मस्जिद के निचे 100 फीट ऊंचा आदि विश्वेश्वर का स्वयंभू ज्योतिर्लिंग है

2050 साल पहले महाराज विक्रमादित्य ने काशी विश्वनाथ मंदिर की स्थापना की थी और 1664 में औरंगजेब ने इसे तुडवा दिया था

मंदिर के उसी अवसेश का प्रयोग कर मस्जिद को तैयार किया गया है, कोर्ट में यह मामला 1991 से चला आ रहा है

हाल ही में इन्हीं दावों पर सुनवाई करते हुए अदालत ने कोर्ट कमिश्नर नियुक्त कर, आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया की एक टीम बनाई है जो ज्ञानवापी परिसर का सर्वे करेगी

अदालत ने 17 मई तक सर्वे का काम पूरा करवाकर रिपोर्ट पेश करने का आदेश दिया है

16 मई को सर्वे का काम पूरा हो गया है हिंदू पक्ष ने दावा किया कि कुएं से बाबा मिल गए हैं। इसके अलावा हिंदू स्थल होने के कई साक्ष्य मिले

वहीं, मुस्लिम पक्ष ने कहा कि सर्वे के दौरान कुछ नहीं मिला