अमेरिका स्थित क्रिप्टो एक्सचेंज Coinbase को यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) के जरिए क्रिप्टोकरेंसी खरीदने के ऑप्शन को बंद करना पड़ा है

अमेरिका स्थित क्रिप्टो एक्सचेंज Coinbase को यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) के जरिए क्रिप्टोकरेंसी खरीदने के ऑप्शन को बंद करना पड़ा है

तीन दिन पहले ही क्रिप्टो एक्सचेंज ने भारत में क्रिप्टो ट्रेडिंग शुरू करने की अपनी योजना का ऐलान किया था

नैस्डैक-लिस्डेट कंपनी (Nasdaq Listed Company) ने घोषणा की थी कि वह यूजर्स को 7 अप्रैल को एक मेगा इवेंट में UPI का इस्तेमाल करने की अनुमति देगी

उसी रात, नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने एक बयान जारी कर कहा कि उसे 'UPI का इस्तेमाल करने वाले किसी भी क्रिप्टो एक्सचेंज के बारे में जानकारी नहीं है

अभी ऐप से पता चलता है कि यूजर्स IMPS तरीके से सेल कर सकते हैं। फिलहाल खरीदारी का ऑप्शन उपलब्ध नहीं है

मोबिक्विक वॉलेट ने क्रिप्टो ट्रेडिंग बंद कर दी है। इसने प्रमुख क्रिप्टो एक्सचेंजों के साथ पार्टनरशिप की थी

केवल कुछ एक्सचेंज बैंक ट्रांसफर का इस्तेमाल करके क्रिप्टो ट्रेडिंग की अनुमति दे रहे हैं जिसके चलते  ट्रेडिंग वॉल्यूम में काफी गिरावट आई है

1 अप्रैल को क्रिप्टो टैक्स लागू होने के बाद पहले दो दिनों में भारत के शीर्ष क्रिप्टोक्ररेंसी एक्सचेंजों पर लेनदेन के वॉल्यूम में 55% की गिरावट आई है, जबकि डोमेन ट्रैफ़िक में 40% की गिरावट आई है

नैस्डैक-लिस्टेड क्रिप्टो एक्सचेंज ऐसे समय आया है, जब ट्रेडिंग वॉल्यूम सबसे कम है। जबकि NPCI का कहना है  कि वो UPI क्रिप्टो खरीद का समर्थन नहीं करता है