Chitra Ramkrishna के मामले में CBI ने तेज की जांच, सेबी कार्यालय का दौरा किया

CBI ने देश के सबसे बड़े स्टॉक एक्सचेंज की पूर्व सीईओ चित्रा रामकृष्ण (Chitra Ramkrishna) और उनके एडवाइजर से पूछताछ की है

एनएसई की पूर्व सीईओ चित्रा रामकृष्ण पर गोपनीय एनएसई डाटा एक बाहरी व्यक्ति के साथ शेयर करने और उनसे सलाह लेने का आरोप है

एक सूत्र ने रॉयटर्स को बताया कि सीबीआई (CBI) अधिकारियों ने इस मामले से जुड़े डॉक्युमेंट जुटाने के लिए सेबी (SEBI) के दफ्तर का भी दौरा किया।

इस समय सबसे बड़ा सवाल उस अनाम योगी को लेकर है जिसके इशारे पर चित्रा देश के सबसे बड़े स्टॉक मार्केट को चला रही थीं

SEBI की रिपोर्ट के मुताबिक, एक तीसरा शख्स समय-समय पर चित्रा को सलाह देता रहता था. वह मेल के जरिए चित्रा से बात करता था. यह मेल आईडी rigyajursama@outlook.com था

सबसे आश्चर्य की बात यह है कि सेबी ने जब चित्रा से सवाल पूछे तो उन्होंने कहा कि इन सब फैसलों के लिए उन्हें 'हिमालय के एक योगी' ने सलाह दी थी, जिसे उन्होंने खुद न कभी देखा और न ही कभी बात की। चित्रा ने कहा कि वे सिर्फ इस रहस्यमयी योगी के ई-मेल के आधार पर अपने फैसले लेती थीं।

Chitra रामकृष्ण अप्रैल 2013 से दिसंबर 2016 तक नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) की एमडी एवं सीईओ थीं. वह योगी को सिरोमणि कहती थीं, जो उनके मुताबिक एक आध्यात्मिक शक्ति हैं और पिछले 20 वर्षों से व्यक्तिगत और व्यावसायिक मामलों पर उनका मार्गदर्शन कर रहे हैं. रामकृष्ण के अनुसार यह अज्ञात व्यक्ति या योगी कथित रूप से एक आध्यात्मिक शक्ति थी, जो अपनी इच्छानुसार कहीं भी प्रकट हो सकती थी