भारतीय शेयर बाजार की समय पद्धति को कैसे समझे ? (Stock Market Timings in India)

भारतीय शेयर बाजार में सिर्फ 5 दिन कारोबार होता है  शनिवार और रविवार को यह बंद रहता है  और  इस के अलावे स्टॉक एक्सचेंज के द्वारा निर्धारित छुट्टियों के दिन बंद रहता है । आमतौर पर भारतीय शेयर बाजार  की समय पद्धति (Stock market timings)  तीन  Session में  बटी हुई है ।

शेयर बाजार की समय पद्धति (Stock Market timings in India)

  • नॉर्मल ट्रेडिंग  सेशन (Normal trading Session)
  • प्रिओपनिंग सेशन (Pre opening Session)
  • पोस्ट क्लोजिंग सेशन (Post Closing Session)
open demat account



Normal Trading Session

नॉर्मल ट्रेडिंग सेशन सुबह के 9:15 बजे से शाम के 3:30 बजे तक होता है इस  सेशन में आप कभी भी अपने शेयर को खरीद या बेच सकते हैं या फिर हम कह सकते हैं कि यह  स्टॉक मार्केट की   ओरिजिनल टाइमिंग है ।
नॉर्मल ट्रेडिंग सेशन में बाय लेटरल मैचिंग सिस्टम  (Bialeteral matching system ) का प्रयोग किया जाता है यानी कि  जब Buyer   की और Seller  की Price match  हो जाती है तो अपने आप ही transaction कंप्लीट हो जाता है  । अगर खरीदने और बेचने वाले लोग ज्यादा हैं तो price और time की प्रायरिटी के हिसाब से  सभी ट्रांजैक्शन पूरे   किए जाते हैं ।

Pre-opening Session

  यह सेशन 15 मिनट का होता है   pre opening session  9:00 बजे से 9:15 तक होता है इसमें तीन  slot होते हैं ।  

पहला slot 9:00 बजे से 9:08 तक होता है इसे Order entry session भी कहा जाता है इस सेशन में आप अपनी   Buy and Sale order  लगा सकते हैं या फिर अपने आर्डर को modify  करना है या फिर cancel करना है तो आप इसी सेशन में कर सकते हैं । 9:07 या 9:08 मिनट  में कभी भी यह स्लॉट बंद हो जाता है ।

 दूसरा  slot  9:08 से 9:12 तक होता है इस  slot   में Order matching की प्रोसेस की जाती है  और normal trading session की Opening price निकाली जाती  है । इस slot में आप अपनी Buy and Sale order  modify या cancel नहीं कर सकते ।

 तीसरा  slot  9:12 से 9:15 तक होता है इसे Buffer Period  कहते हैं  इस  slot  में की opening  session  का transition  नॉर्मल सेशन में smoothly  होता है ।
Pre opening session  का प्रयोग नॉर्मल सेशन के  Opening price  का पता लगाने के लिए किया जाता है । कुछ साल पहले  Pre opening session नहीं थे ।


भारत में pre opening session  का प्रयोग लोग बहुत ही कम करते हैं वे अधिकतर अपना order   नॉर्मल सेशन शुरू  होने के बाद ही लगाते हैं जिसके चलते  शेयर बाज़ार  शुरू होने के कुछ समय तक बहुत ज्यादा  volatility होते  हैं । शुरुआती volatility और Volume को सेटल होने में 25 से 30 मिनट लगते हैं ।

Normal Order का समय  खत्म होने के बाद 10 मिनट का टाइम  price calculation के लिए होता है यानी 3:30 से 3:40 तक  closing price का calculation होता है ।  3:30 बजे जब नॉर्मल सेशन बंद हो जाता है  तो शेयर या इंडेक्स की जो price होती है वह क्लोजिंग प्राइस नहीं होती ।

किसी शेयर का closing price लास्ट आधे घंटे का यानी 3:00 से 3:30 तक की प्राइस का वेटेड एवरेज (weighted average) होता है और Index का क्लोजिंग प्राइस उस इंडेक्स में शामिल सभी शेयरों के लास्ट आधे घंटे का वेटेड एवरेज प्राइस (weighted average price) होता है । जिसे वॉल्यूम  वेटेड एवरेज प्राइस (volume weighted average price) कहा जाता है । आमतौर पर 2 या 3 मिनट बाद ही आ जाती है यानी 3:32  या 3:33 मिनट पर आ जाती है   ।

Post Closing Session


क्लोजिंग प्राइस कैलकुलेट करने के बाद पोस्ट क्लोजिंग सेशन (Post closing session) होता है जो 3:40 से 4:00 बजे तक होता है यानी कि 20 मिनट का होता है | इस सेशन में आप जो भी शेयर  Buy या Sale करते हो वह आपको नॉर्मल  ट्रेडिंग सेशन की  closing price पर ही मिलता है ।

उदाहरण के लिए अगर SBI  का  क्लोजिंग सेशन का प्राइस  400 हैं और आप पोस्ट क्लोजिंग सेशन में SBI का शेयर Buy  या Sale करते हो तो आप 400 के price पर ही   SBI  का  शेयर खरीद या बेच सकते हो ।

Pre opeining session और Post closing Session  सिर्फ CASH Market में ही होते हैं,  फ्यूचर एंड ऑप्शन (Future & Options) में preopening और  post closing नहीं होते हैं ।

कई बार ऐसी स्तिथि  आती है कि स्टॉक मार्केट टाइमिंग (Stock market timings) में Buy और Sale  करना संभव नहीं होता तो ऐसे में आप आफ्टर मार्केट  ऑर्डर (After Market Order or AMO) का प्रयोग कर सकते हैं आफ्टरमार्केट आर्डर (AMO) में आप अपने आर्डर stock market  बंद होने के बाद और stock market खुलने  से पहले कभी भी लगा सकते हैं । इस टाइम में एक्चुअल ट्रेडिंग नहीं होती है परंतु आप अपना आर्डर प्लेस कर सकते हो और यह आर्डर अगले दिन जब भी स्टॉक मार्केट खुलेगा  आपका ऑर्डर execute हो जाएगा ।


मुहूर्त ट्रेडिंग (Muhurt trading)

open demat account


स्टॉक मार्केट में एक अलग trading session भी होता है जिसे मुहूर्त ट्रेडिंग (Muhurt trading) कहा जाता है मुहूर्त ट्रेडिंग  (Muhurt trading ) में दिवाली के दिन 1 घंटे के लिए स्टॉक मार्केट खुला रहता है मुहूर्त ट्रेडिंग की टाइमिंग स्टॉक एक्सचेंज मुहूर्त ट्रेडिंग के कुछ दिन पहले बताते  (declare करते) हैं ।
आमतौर पर मुहूर्त ट्रेडिंग की टाइम शाम के समय रखा जाता है ।

यह पोस्ट आपको कैसा लगा नीचे कमेंट सेक्शन में अपने कीमती सुझाव अवश्य दें धन्यवाद ।

Leave a Reply

*

Pin It on Pinterest