Share Market और Stock Market में क्या अंतर है | Difference between Share Market and Stock Market

share market aur stock market me antar

इस प्रश्न को सुनकर आपलोगो को थोड़ा अजीब लगे की Share Market और Stock Market में क्या अंतर है ?  जो लोग पहले से फाइनेंसियल मार्किट(Financial Market) से जुड़े हुए हैं उनके उन्हें इसबारे में शायद पता हो परन्तु जो लोग नए है या फिर Financial Market से पूरी तरह अनभिज्ञ हैं तो उन्हें इस बारे में जानना चाहिए । इस लेख  हम Share Market और Stock Market के अंतर के बारे में विस्तार पूर्वक चर्चा करेंगे ।

सामान्यतः लोग फाइनेंसियल मार्किट में अपनी नियमित आमदनी से  थोड़ा ज्यादा पैसा कमाने के मकसद से आते हैं । और उनके पास इस तरह के मार्किट की कम जानकारी होती है । नए लोगो के लिए शेयर , स्टॉक , इक्विटी , जैसे शब्दों को समझना थोड़ा मुश्किल होता है । जो लोग शेयर बाजार में निवेश करने के मकसद से आते हैं उन्हें इन शब्दों की जानकारी होना अत्यंत आवश्यक है , तभी वे लोग अपने पैसे को सही जगह  पे निवेश कर पाएंगे ।

जैसा की मैंने पहले कहा इस लेख में हम शेयर मार्किट और स्टॉक मार्किट के अंतर के बारे में चर्चा करेंगे । पहले हम इन शब्दों को विभक्त कर इनके अर्थ को समझने का प्रयास करते हैं ।

Meaning of Share Market (शेयर मार्किट का मतलब)

अगर हम शेयर की बात करे  यह शब्द “शेयर” (Share) निवेश से जुड़ा हुआ है जिसका शाब्दिक  अर्थ होता है “हिस्सेदारी” । शेयर किसी कंपनी के पुरे वैल्यूएशन (पूरी कीमत) का एक छोटा हिस्सा होता है । अगर आप किसी कंपनी में निवेश करते है तो आपको उस कंपनी के कुछ शेयर मिलते है जो उस कंपनी में आपकी हिस्सेदारी को दर्शाता है ये पूरी तरह  से इस बात पर निर्भर करता है की आपने उस कंपनी में कितना निवेश किया है ।

इसी प्रकार शेयर मार्किट (शेयर मार्किट) एक ऐसा बाजार है जहा पर कोई कंपनी पैसे जुटाने के मकसद से लोगो के सामने अपने कंपनी के शेयर को लेने का प्रस्ताव रखती है ताकि लोगो से इकठ्ठा किये हुए पैसे को वो कंपनी अपने बिज़नेस को बढ़ने में मदद कर सके । अब जो लोग उस कंपनी का शेयर खरीदते है वो उस कंपनी के निवेशक (Investor) कहलाते है । यहाँ पे अगर आप ध्यान दे तो दोनों के फायदे हैं कंपनी जो पैसे लोगो से लेती है  उसपर उसे ब्याज (Interest) नहीं देना पड़ता , और दूसरी तरफ निवेशक (Investor) को उस कंपनी में हिस्सेदारी (partnership) मिल जाती है । अब आगे भविष्य में अगर कंपनी आगे बढ़ती है और मुनाफा कमाती है तो उसका कुछ भाग अपने निवेशकों के बीच बांटती है जिसे हम डिविडेंड (Dividend) कहते हैं । लेकिन यह निर्णय कंपनी का होता है की वो इस मुनाफे को नवेशक के साथ साझा करे ये फिर कंपनी के ग्रोथ (growth) में लगाए ।

इसी प्रकार हम कह सकते हैं की शेयर मार्किट एक ऐसा प्लेटफार्म है जहा पर शेयर को खरीद और बेच सकते हैं । साधारणतः शेयर किसी कंपनी में हिस्सेदारी को बतलाता है । आप जिस कंपनी में निवेश करते हैं आप उस कंपनी के शेयरधारक (Shareholder) बन जाते हैं ।

इसके अलावे एक दूसरी बात यहाँ पे आती है अगर आपने जिस कंपनी में निवेश किया है भविष्य में अगर वो कंपनी अच्छा नहीं कर पाती है और कंपनी मुनाफे से घाटे में जाने लगती है तो उस कंपनी के निवेशकों को भी नुकसान झेलना पड़ता है । इसलिए किसी कंपनी में निवेश करने से पहले आपको उस कंपनी के बारे में जानकारी होना आवश्यक है ।

Meaning of Stock Market (स्टॉक मार्किट का मतलब)

स्टॉक मार्किट को हम प्रायः स्टॉक एक्सचेंज भी कहते हैं , यह एक ऐसा स्थान है जहा पे स्टॉक्स , इक्विटीज , सिक्योरिटीज और बांड्स इन सभी को बारे पैमाने पर ख़रीदा और बेचा जाता है ।

यहाँ पे शब्द स्टॉक हिंदी शब्द शेयर का अंग्रेजी रूपांतरण है जिसे हम हिस्सेदारी के रूप में जानते हैं । लेकिन हम कह सकते हैं की स्टॉक मार्किट एक तरह का इंफ्रास्ट्रक्चर मुहैया करवाता है जहा में हम बहुत ही सुरक्षित और नियंत्रित तरीके से शेयर्स , बांड्स और दूसरे एसेट्स की खरीद और बिक्री कर सकते हैं । यह पे स्टॉक मार्किट स्टॉक खरीदार और स्टॉक विक्रेता दोनों को क साथ लाता है , जिससे आसानी से ट्रेड हो सके ।

स्टॉक मार्किट में हो रहे काम- काज पर नजर रखने के लिए एक सरकारी संस्था का गठन किया गया जिसे सेबी (SEBI) (सिक्योरिटी  एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ़ इंडिया ) के नाम से जाना जाता है , जो स्टॉक मार्केट में हो रहे काम पर निगरानी रखती है । किसी भी कंपनी का स्टॉक अगर स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टेड नहीं है तो उसके शेयर  में खरीद या बिक्री नहीं किया जा सकता , इसके लिए पहले उस कंपनी को स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट करवाना पड़ेगा ।

वर्तमान समय में हमारे देश में दो एक्सचेंज कार्यरत हैं पहला बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (Bombay Stock Exchange) BSE और दूसरा नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (National Stock Exchange) NSE । स्टॉक मार्किट में  किसी भी कंपनी के स्टॉक की कीमत उस स्टॉक में डिमांड और सप्लाई (Demand and Supply) के आधार पे तय होती है ।

Difference between Stock Market and Share Market (शेयर मार्किट और स्टॉक मार्किट में अंतर)

ये दोनों शब्द पारस्परिक मिलते- जुलते शब्द हैं , इन्हे हम सिर्फ इनके प्रयोग के आधार पर विभक्त कर सकते हैं , शेयर मार्किट या फिर स्टॉक मार्किट  एक मार्केट है जहा पर हम अलग – अलग प्रकार के बांड्स और सिक्योरिटीज  को खरीद या बेच (trade) सकते हैं ।  यहाँ पर कोई कंपनी डायरेक्टली शेयर्स जारी कर सकती है परन्तु उसी प्रकार स्टॉक्स जारी नहीं कर सकती । यहाँ पे बहुत सरे शेयर्स को जब एक साथ रखा जाता है तो उसे स्टॉक्स कहा जाता है । हम जब भी शेयर्स की बात करते हैं तो उसे एक छोटे वैल्यू के तोर पर देखा जाता है जबकि स्टॉक्स को हमेसा एक बड़े वैल्यूएशन के तोर पर देखा जाता है । ये स्टॉक मार्केट और शेयर मार्केट में खास अंतर थे ।

इस लेख को पढ़ने के बाद आपको शेयर मार्केट और स्टॉक मार्केट में अंतर पता चल गया होगा । अगर आप भी शेयर मार्केट में या तो निवेश करना चाहते हैं या फिर ट्रेड करना तो आपके पास डीमैट अकाउंट होना आवश्यक है आप इस लिंक पर जाकर आपने डीमैट अकाउंट खुलवा सकते हैं ।

Leave a Reply

*

Pin It on Pinterest