paper trading

पेपर ट्रेडिंग क्या हैं | पेपर ट्रेडिंग के लिए बेहतरीन वेबसाइट | वर्चुअल ट्रेडिंग प्लेटफार्म | Stock simulators

Trading

पेपर ट्रेडिंग क्या हैं (What is paper trading) ? पेपर ट्रेडिंग कैसे होती हैं (How to do paper trading in India) ? सबसे बेहतरीन पेपर ट्रेडिंग  website या app  कौन सा है ? (Which is the best website or app for paper trading) ? और अंत में भारत की  सबसे बेहतरीन पेपर ट्रेडिंग वेबसाइट कौन सी है ( Best websites for paper trading in India) ? पेपर ट्रेडिंग से सम्बंधित ये कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न हैं जो अक्सर पूछे जाते हैं | आज के लेख में हम इन्ही तमाम विषयो पर चर्चा करेंगे और विस्तार पूर्वक  इन प्रश्नो का हल ढूंढ़ने जा प्रयास करेंगे |

आप को तो पता ही होगा अधिकतर लोग ट्रेडिंग में loss करते है परन्तु आपको यह जानकार आश्चर्य होगा 95% लोग अपनी इंट्राडे  की पोजीशन loss में काटते हैं | शेयर बाजार में सभी लोग अमीर बनने का सपना लेकर आते हैं जिसमे से 40% ट्रेडर पहले महीने में ही शेयर मार्किट को अलविदा कह देते हैं | जो बच जाते हैं उनमे से 80% किसी तरह २ साल तक टिके रहते हैं और फिर वो भी निकल जाते है और यह आकड़ा 5 सालो में और भी कम हो जाता हैं और सिर्फ 7% ही लोग बचे रह पाते हैं |  निचे दिए ग्राफ में आपको यह आसानी से समझ में आ जायेगा |

paper tading
How people quit share market over the time

परन्तु ऐसा होता क्यों है इसका कारण हैं जानकारी | अगर आपको शेयर मार्किट में रहना हैं तो पहले शेयर मार्किट के बारे में आपको पूरी जानकारी लेनी पड़ेगी | किसी भी क्षेत्र में आप बिना पढ़े , बिना उसके बारे में जाने आगे नहीं बढ़ सकते |

पेपर ट्रेडिंग या वर्चुअल ट्रेडिंग क्या हैं  (virtual trading in hindi)?

कुछ लोग वर्चुअल ट्रेडिंग (virtual trading) को ही पेपर ट्रेडिंग (paper trading) मानते हैं परन्तु कुछ लोग सिर्फ पेपर पर ही (कागज़ पर कलम से लिखकर और खुद से प्राइस का अनुमान लगा कर) शेयर खरीदते हैं और बेचते हैं उसे हम पेपर ट्रेडिंग कहते हैं परन्तु कुछ websites ये काम (trading) करने के लिए आपको एक trading platfrom मुहैया करवाती हैं |

वैसे कम्प्यूटर प्रोग्राम या एप्लीकेशन जो virtual tradig करने के लिए platfrom मुहैया करवाते हैं उन्हें स्टॉक सिम्युलेटर्स (stock simulators) कहा जाता है |

 दरअसल वर्चुअल स्टॉक ट्रेडिंग (virtual stock trading) शेयर बाजार में हो रहे ट्रेडिंग की तरह ही होता है जहा आपको सबकुछ लाइव शेयर मार्किट  की तरह ही  लगेगा सभी शेयरों के दाम दिखाई देंगे उनका प्राइस घट- बढ़ रहा होगा | आप शेयर खरीदने के लिए आर्डर लगा पाएंगे इत्यादि | आपको 5 -10 लाख या फिर १ करोड़ तक के काल्पनिक पैसे ( virtual money ) मिलते हैं |   

परन्तु यह सिर्फ अभ्यास करने के लिए ही बना होता है | कुछ लोग शेयर मार्किट में डायरेक्ट ट्रेडिंग करने से पहले वर्चुअल ट्रेडिंग प्लेटफार्म पर अभ्यास करते हैं | यहाँ पे  आपको सबकुछ लाइव शेयर मार्किट की तरह ही काम करता है , आपको लाखो रूपये का क्रेडिट दिया जाता हैं जिससे आप ट्रेडिंग करते हैं आप प्रॉफिट बनाये है या loss लेते हैं आपको अपने जेब से कुछ नहीं देना होता | एक बार आपने लाखो गवा दिए आपको फिर से लाखो रुपए की क्रेडिट मिल जाती हैं और आप फिर से ट्रेडिंग सुरु कर सकते , न ही इसमें हुवे मुनाफे को आप घर लेकर जा सकते हैं इससे हम एक खेल की तरह मान सकते हैं जो आप असली शेयर बाज़ार में उतरने से पहले खेलते हैं |

वर्चुअल स्टॉक ट्रेडिंग प्लेटफार्म काम कैसे करता है  (How do virtual stock trading platforms work)?

वर्चुअल ट्रेडिंग करने के लिए आप किस तरह से स्टॉक सिम्युलेटर्स का प्रयोग करेंगे इसकी प्रक्रिया बहुत ही सामान्य है भारत में स्टॉक सिम्युलेटर्स का प्रयोग आप निम्नलिखित तरीके से कर सकते हैं —

आप जिस भी simulating platform का प्रयोग करना चाहते हैं वह पर आपको एक अपने ईमेल से फ्री में खाता खोलना पड़ेगा |

उसके बाद आपको निर्धारित करना पड़ेगा की आप कितने पैसे (virtual money ) से ट्रेडिंग करना चाहते हैं |

उसके बाद आप real live trading की तरह शेयर की खरीदारी और बिकवाली कर सकते हैं और अपने प्रॉफिट या लॉस पर नज़र रख सकते हैं |

इस प्लेटफार्म पर आप अपनी अलग -अलग स्ट्रेटेजी को भी आजमा सकते हैं |

जब आप को लगने लगे की आप अब सब कुछ जान चुके हैं और अब आप को रियल मार्किट में जाना चाहिए तो आप रियल मार्किट में ट्रेडिंग की शुरुवात कर सकते हैं |

वर्चुअल ट्रेडिंग करने के फायदे और नुक्सान (Pros and Cons of doing virtual trading)

प्रत्येक वस्तु के कुछ फायदे होते हैं तो कुछ नुक्सान भी होते हैं ये आप पर निर्भर करता हैं की आप उसे किस तरह प्रयोग करते हैं | जहा वर्चुअल ट्रेडिंग करने के फायदे हैं वही इसके कुछ नुक्सान भी हैं , आइये  इन्हे एक – एक कर समझते हैं —

वर्चुअल स्टॉक ट्रेडिंग करने के फायदे (Advantage of doing virtual stock trading)

  • वर्चुअल  ट्रेडिंग करने के लिए आपको डिमैट अकाउंट ओपन करवाने की जरूरत नहीं होती है  और ना ही किसी कार्य की प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है आप सिर्फ एक ईमेल की सहायता से  अपना अकाउंट एक्टिवेट करवा सकते हैं ।

  • वर्चुअल ट्रेडिंग के लिए आपको  असली रुपए की आवश्यकता नहीं होती आपको ट्रेडिंग करने के लिए वर्चुअल  मनी दी जाती है ।

  •   नए लोग जो  शेयर मार्केट से जुड़े हैं  उनके लिए वर्चुअल ट्रेडिंग   प्लेटफार्म  पर सीखने के लिए बहुत कुछ मिलता है यहां  वे शेयर मार्केट के basics और   और अलग-अलग  स्ट्रेटजी   के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं  ।

  • यहां पर आपको ट्रेडिंग करने के लिए एक भी रुपए खर्च नहीं करने पड़ते इसलिए  यहां आप बिना जोखिम के भी ट्रेडिंग कर सकते हैं ।

  • यहां पर आप जो भी गलती करते हैं उससे  आपको सीखने के लिए बहुत कुछ मिलता है ।

वर्चुअल ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर ट्रेडिंग करने के नुकसान (Advantage of doing virtual stock trading)

  • वर्चुअल ट्रेडिंग करने का सबसे बड़ा नुकसान यह होता है क्या आप जो भी  ट्रेड लेते हैं उसमें आपका कोई इमोशन  जुड़ाव  नहीं होता है क्योंकि आप के   असली पैसे नहीं लगते हैं  जबकि असली ट्रेडिंग में आपका इमोशन जुड़ा होता है ।
  • इसमें आपको पहले से पता है कि आप जो भी  मुनाफा  या नुकसान  करेंगे आपको को मिलने वाले  नहीं है  इसलिए कुछ समय के बाद आप इससे   ऊबने  लगते हैं ।

जब आप असली ट्रेडिंग करते हैं तो वहां का माहौल कुछ अलग होता है वहां पर अगर आप प्रॉफिट या लॉस में जा रहे हो तो आप मेंटली एक तरह के प्रेशर से गुजरते हैं  जो आपके पेशेंस लेवल को टेस्ट करता है कि आप  ट्रेड में कितनी देर बने रह सकते हैं , इसलिए ट्रेडिंग को एक साइकोलॉजिकल गेम भी कहा जाता है जिसमें आपकी ट्रेडिंग स्ट्रेटजी से ज्यादा आपके साइकोलॉजिकल लेवल की भागीदारी होती है परंतु वर्चुअल ट्रेडिंग में आपको ऐसा कोई अनुभव प्राप्त नहीं होता ।

कुछ लोग ऐसा भी मानते हैं कि आपको वर्चुअल ट्रेडिंग नहीं करनी चाहिए क्योंकि इससे आपकी आदत खराब हो जाती है ।

वर्चुअल स्टॉक ट्रेडिंग सीखने के लिए कुछ बेहतरीन वेबसाइट

Moneybhai

Websites : moneybhai.moneycontrol.com

Moneybhai  फाइनेंस से जुड़े सबसे बड़े blog Moneycontrol का  भाग है जहां पर आप फ्री में रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं शुरू में आपको एक करोड़ तक का virtual  cash  मिलता है जिसे आप शेयर में , कमोडिटीज में , म्यूचुअल फंड  इत्यादि में निवेश कर सकते हैं  ।
मनीभाई  में आप अलग-अलग लीग में भी हिस्सा ले सकते हैं और अलग-अलग trader से compete भी कर सकते हैं यहां आपको forum  भी मिलता है जहां आप प्रश्न पूछ सकते हैं और उसका जवाब पा सकते हैं ।

Chart Mantra

Website: –http://chartmantra.economictimes.indiatimes.com

वर्चुअल ट्रेडिंग (paper trading) करने के लिए यह भी एक बेहतरीन  वेबसाइट है  इकोनामिक टाइम्स के द्वारा बनाई गई है  यह वेबसाइट टेक्निकल एनालिसिस के बारे में ज्यादा फोकस करती है | यहां पर आप अलग-अलग चार्ट और अलग-अलग पेटर्न्स के बारे में सीख पाएंगे । यहां पर आपको शुरुआत में 1 लाख  का क्रेडिट दिया जाता है । इस वेबसाइट की सबसे खास बात यह है कि यह आपको सिर्फ एक शेयर  चुनने देता है और उसी शेयर  पर आपको बार-बार रिसर्च और एनालिसिस करना पड़ता है इससे आपको यह फायदा होता है कि आप उस स्टॉक के मूवमेंट के बारे में उसकी volatility  के बारे में  समझ  जाते है और दिन के  अंत में आपको यह पता लगाना रहता है कि आप उस   शेयर से मुनाफा बनाते हैं या नुकसान ।


Tradingview

Website:- https://in.tradingview.com

Tradingview  वर्चुअल स्टॉक ट्रेडिंग (virtual stock trading) की सुविधा देने वाली भारत की सबसे बेहतरीन वेबसाइट या ऐप में से एक है |

सुविधा के मामले में यह साइट बहुत ही बेहतरीन मानी जाती है यहां पर आपको बहुत सारी सुविधाएं जैसे chart analysis बहुत सारे टेक्निकल टूल्स और तमाम तरह की अलग-अलग  सुविधाओं का उपयोग कर सकते हैं | यहां पर  आप फ्री में अकाउंट खुलवा कर पेपर ट्रेडिंग शुरू कर सकते हैं ।

इसके अलावे कुछ और बेहतरीन websites  के नाम निचे दिए गए हैं आप उन पर जाकर उनके फीचर्स को चेक कर सकते हैं—

Dalal Street

Website: https://www.dsij.in/Stock-Market-Challenge

Investopedia Stock Simulator

Website :- https://www.investopedia.com/simulator/

Trackinvest

 Website— http://www.trakinvest.com/

यह पोस्ट आपको कैसा लगा नीचे कमेंट सेक्शन में अपने मूल्यवान विचार अवश्य लिखें , धन्यवाद ।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *