A to Z About Bank Nifty, bank nifty kya hai, prediction , analysis, chart reading, support and resistance – Invest and Earn

Bank Nifty kya hai, bank nifty support, how to read bank nifty chart , how to predict bank nifty trend , bank nifty pivot point , bank nifty volatility , bank nifty open interest 

शेयर मार्केट में सबसे ज्यादा volume के साथ trade होने वाला इंडेक्स बैंक निफ्टी और निफ्टी है लेकिन इन दोनों में सबसे ज्यादा volatility या फिर कहे उतार- चढ़ाव के कारण bank nifty index में सबसे ज्यादा trade किया जाता है |

आज के इस लेख में हम बैंक निफ्टी के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे, आप को बताएँगे आप किस तरह से bank nifty का chart पढ़ सकते हैं , अलग- अलग time frame पर bank nifty analysis कैसे करे, bank nifty Option chain का analysis करें support और resistance कैसे पता करे , बैंक nifty future में कैसे trade करें, बैंक nifty options में कैसे trade करें इत्यादि, इसके साथ हम कुछ अत्यंत महत्वपूर्ण जानकारियां (bank nifty trading tips) शेयर करेंगे जो बैंक nifty में trade करते वक़्त आपके काम आयेंगी |

आइये सबसे पहले समझते हैं Bank Nifty क्या है , और यह कैसे बना है, इसमें कौन – कौन से शेयर शामिल हैं , बैंक nifty में अलग – अलग शेयरों का कितना वेटेज (bank nifty weightage) है इत्यादि |

Bank Nifty kya hai (बैंक निफ्टी क्या है ?)

bank nifty index
bank nifty index

 Nifty bank , भारतीय शेयर बाज़ार में trade होने वाला Private bank और PSU bank का एक सूचकांक (index) है जो यह बतलाता है की इस समय शेयर बाज़ार में Banking Share किस तरह प्रदर्शन कर रहे हैं | Bank nifty index कुछ private बैंक और कुछ सरकारी बैंक के शेयरों को मिल कर बनाया गया है , जिसमे अलग – अलग बैंकों की अलग – अलग भागीदारी रखी गयी है जिसे bank nifty weightage कहा जाता है |

अगर शेयर बाज़ार में ये बैंक अच्छा प्रदर्शन करते है मतलब banking sector के शेयरों में तेजी आती है तो Bank nifty में भी तेजी आएगी | वही अगर banking share गिरते हैं तो bank nifty भी गिरेगा | यानि bank nifty index की चाल पूरी तरह से banking शेयरों पर निर्भर रहती है | इसलिए आप जब भी bank nifty में trade करे आपकी नजर कुछ चुनिन्दा banking शेयर पर अवस्य होनी चाहिए |

Bank Nifty lot size

अगर आप बैंक nifty में trade करना चाहते हैं तो आपको bank nifty lot size के बारे में पता होना चाहिए | चुकि बैंक nifty एक index है आप इसे किसी शेयर की तरह सीधे खरीद या बेच कर trade नहीं कर सकते सकते, इसके लिए आपको या तो bank nifty future या bank nifty options में trade करना पड़ेगा | जहा हम शेयर में किसी कंपनी के एक शेयर को भी खरीद सकते हैं यहाँ पर बैंक nifty future में बैंक nifty के 25 quantity को लेकर एक बासकेट बनाया गया है जिसे lot कहा जाता है एक बार में आप या तो 1 lot या 1 से अधिक lot खरीद या बेच सकते हैं |

आइये इसे उदाहरण की मदद से समझते हैं

अगर Bank Nifty live price 35000 चल रहा है (इसे bank nifty spot price कहा जाता है ) तो हो सकते है bank nifty future का price 35100 हो, अगर आपको लगता है banknifty future का यह price 35200 तक जायेगे और आप इसे खरीदना चाहते हैं तो आप कम से कम एक lot खरीदेंगे जिसमे 25 quantity होगी, अगर आप 2 lot खरीदते हैं तो आपको बैंक nifty की 50 quantity मिलेगी (2 * 25 = 50) , वही अगर आप 10 lot में trade करना चाहते हैं तो आपको 250 quantity (10 * 25) मिलेगी | इस तरह से ये आपके कैपिटल के ऊपर है की आप एक बार में कितने lot से trade करते हैं |

समय – समय पर banknifty के lot size में exchange के द्वारा फेरबदल किया जाता रहा है |

Bank nifty stocks list, Bank nifty weightage

जैसा की हम पहले ही बता चुके हैं Bank nifty stocks list में मुख्यत: banking sector के शेयर ही शामिल हैं bank nifty में private बैंक और psu बैंक का अलग – अलग weightage है | private बैंक में प्रमुख बैंक हैं – HDFC BANK , AXIS BANK , ICICIBANK , KOTAK MAHINDRA BANK , INDUSIND BANK  और  RBL BANK, वही psu बैंकों में प्रमुख बैंक हैं SBI, PNB, bank of Baroda, परन्तु सरकारी बैंकों में   SBI का weightage , बैंक nifty में सबसे ज्यादा है और private बैंकों में HDFC BANK का weightage बैंक nifty में सबसे ज्यादा है |

bank nifty stocks weightage
Updated on October 29, 2021 Source NSE

इसे भी पढ़े – Stock weightage in Nifty 50 in Hindi

Bank Nifty Volatility 

आपने सुना होगा बैंक nifty में trade कर लोग लाखो, करोड़ो रूपये कमाते हैं ये सही भी है और लोगो को सबसे ज्यादा यही चीजे आकर्षित करती हैं , लेकिन आपको समझना चाहिए की अगर कोई इतने रूपये कमा रहा है तो इसके पीछे उसकी सालो की मेहनत है तभी वह आज इस स्थिति में है | आप रातो – रात सबकुछ नहीं सिख सकते, इसके लिए आपको शेयर मार्केट में अपना पैसा और समय दोनों देना पड़ेगा, तभी जाकर आप कुछ सीखेंगे |

जैसा की हम पहले बता चुके हैं शेयर मार्केट में सबसे ज्यादा trading लोग बैंक nifty में करना पसंद करते हैं क्योकि जब इसमें किसी भी साइड मूव आती है तो बहुत तेजी से बैंक nifty ऊपर या निचे जाता है banknifty औसतन हर दिन 500 पॉइंट्स की मूव देता है और जो लोग इसमें trade करना जानते हैं वे अच्छा मुनाफा कम लेते हैं लेकिन बहुत से लोग अपना पैसा गवा भी देते हैं |

Bank nifty for intraday and Positional trading

बैंक nifty में कुछ लोग intraday trading यानि (रोज अपनी नयी पोजीशन बनाना और मार्केट band होने से पहले अपनी पोजीशन ख़त्म कर देना) करना पसंद करते हैं तो कुछ लोग अपनी position को कुछ दिनों तक रखते हैं जिसे Positional trading कहा जाता है |

New Margin rules

पहले लोग bank nifty में intraday trading ज्यादा किया करते थे क्योकि उन्हें मार्जिन (ब्रोकर के द्वारा कम पैसे पे ज्यादा खरीदारी की सुविधा देना) मिलता था लेकिन अब सेबी के द्वारा मार्जिन को ख़त्म कर दिया गया है जिससे आपको intraday और स्विंग trading में अपनी पोजीशन लेने के लिए बराबर पैसे लगते हैं |

Bank Nifty Technical Analysis

किसी भी शेयर या कंपनी के बारे में जानने के लिए हमें उसका analysis करना पड़ता है अगर आप एक इन्वेस्टर है तो आपको fundamental analysis सिखने की जरुरत पड़ेगी परन्तु bank nifty में हम trading करते हैं इसलिए आपको technical analysis का ज्ञान होना अत्यंत आवश्यक है | technical analysis एक प्रक्रिया है जिसमे हम chart को देख कर , अलग – अलग indicator का उसे कर या फिर bank nifty price action देख कर किसी शेयर या index के बारे में अनुमान लगते हैं की उसमे तेजी आएगी या फिर उसमे गिरावट आएगी |

How to read bank nifty chart 

Technical analysis का सबसे महत्वपूर्ण भाग है chart का analysis करना, अगर आप chart को देख कर सही से बैंक nifty के ट्रेंड का अनुमान लगा लेते हैं तो आप अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं |

Bank nifty में trend का पता लगाने के लिए bank nifty chart को अलग-अलग time frame पर देखा जाता है ये time frame है –  Monthly time frame, Weekly time frame, Daily time frame, Hourly time frame, 30 minutes, 15 minutes and 5 minutes, कुछ लोग 1 मिनट के chart पर भी trade करते हैं |

यहाँ सभी time frame का उपयोग अलग – अलग प्रकार की trading के लिए किया जाता है जैसे Swing trading के लिए ज्यादातर लोग Weekly और Daily time frame पर chart का analysis करते हैं , वही पर जो लोग Bank nifty intraday trading करते हैं वे ज्यादातर daily, hourly और 15 minute का time frame देखते हैं | और कुछ लोग intraday के दौरान 15 minute और 5 minute के time frame को प्राथमिकता देते हैं , सबका अपना – अपना तरीका होता है , ये पूरी तरह आप पर निर्भर करता है की आप को किस time frame का use करके मुनाफा हो रहा है इससे सम्बंधित कोई खास नियम नहीं है | परन्तु लम्बे time frame का chart analysis आपको ज्यादा क्लियर ट्रेंड दिखाता है |

Bank Nifty Support and Resistance कैसे पता करें

 Technical analysis का दूसरा सबसे महत्वपूर्ण भाग है support and resistance निकालना | किसी भी Bank nifty chart पर support वह जगह होती है जहाँ पर खरीदने वाले (Buyer) तैयार रहते हैं जब भी बैंक nifty का price उस लेवल पर आता है पहले से तैयार buyer खरीदारी शुरू कर देते हैं , इसलिए अगर आप एक buyer हैं तो आपको हमेशा support के पास खरीदारी करनी चाहिए |

Bank nifty chart पर resistance वह लेवल होता है जहा पर जब भी price जाता है तो पहले से तैयार seller (बेचने वाले ट्रेडर) बिकवाली शुरू कर देते हैं और price निचे आ जाता है | अगर आप एक seller हैं तो आपको हमेशा resistance के नजदीक बेचना चाहिए |

समझे Bank nifty pivot point level को

कुछ ट्रेडर bank nifty support and resistance के लिए pivot point का use करते हैं इसमें P की लाइन main लाइन होती है ऐसा माना जाता है की अगर bank nifty , P लेवल के ऊपर trade करे तो उसकी uptrend में जाने की ज्यादा संभावना है P लेवल के ऊपर आपको क्रमशः R1, R2 और R3 मिलेंगे जो resistance 1, resistance 2 और resistance 3 को दर्शाता है | वही pivot लेवल “P” के निचे आपको क्रमशः S1, S2 और S3 मिलेंगे जो support 1, support 2 और support 3 को दर्शाता है |

अगर bank nifty price पुरे दिन pivot लेवल के आस – पास ही trade करे तो इससे मार्केट sideways माना जाता है |

यहाँ पर एक बात ध्यान देने वाली है अगर कोई support बहुत ही ज्यादा volume के साथ टूटता है और price उस लेवल के निचे trade करना शुरू कर देता है तो वह support एक resistance बन जाता है | यही प्रक्रिया resistance के साथ भी होता है और resistance एक support बन जाता है |

कैसे निकाले Entry and Exit level (How to predict bank nifty )

अब यहाँ पर ध्यान देने वाली बात यह है की अगर आपने chart देखकर support और resistance का लेवल निकाल लिया है तो अगर आप एक buyer है तो support के नजदीक आपका Entry (पोजीशन लेना) होनी चाहिए और resistance के पास आपका target (Exit) |

वही पर अगर आप एक bank nifty seller हैं तो resistance के पास आप की entry और support के पास आपका exit या target होना चाहिए |

How to set Stop loss in Bank nifty

अगर आप बैंक nifty में trade करना चाहते है और वो भी intraday , तो आपको stop loss के साथ trade लेना चाहिए | जैसा की हम जानते हैं बैंक nifty अपने भयानक move के लिए जाना जाता है इसलिए आपको हमेशा stop loss लगाकर ही trade लेना चाहिए |

अब प्रश्न आता है आपका stop loss क्या होना चाहिए ? यह भी आपके trading style और आपके risk lene के ऊपर निर्भर करता है कुछ लोग intraday में 0.50% का stop loss लगते हैं , कुछ लोग swing trading में 1- 1.5% का stop loss रखते हैं , कुछ लोग support लाइन के निचे का stop loss लगते हैं, कुछ लोग सुबह के 15 minute के कैंडल के low या high का stop loss लगते हैं | यह भी पूरी तरह आप पे निर्भर करता है परन्तु आपको हमेशा सही risk riward पे trade लेना चाहिए |

कुछ लोग 1:1 का कुछ 1:2 का और कुछ 1:3 का risk and रिवॉर्ड रखते हैं 1:1 का मतलब अगर आप 20 पॉइंट का मुनाफा लेना चाहते हैं तो आपका stop loss भी 20 points का ही होना चाहिए |

एक अच्छा risk reward पाने के लिए आपको हमेसा support या resistance के नजदीक trade लेना चाहिए जिससे आपका stop loss बहुत ही छोटा होगा और आपको बड़ा रिवॉर्ड मिलने के संभवाना होगी |

Stop loss से सम्बंधित एक बात ध्यान देने वाली है कुछ लोग stop loss सिर्फ मन में रखे हैं उनका stoploss hit होने के बाद भी वे अपना loss बुक नहीं करते और trade में बने रहते हैं अंत में एक भारी नुक्सान में उन्हें अपना trade काटना पड़ता है इसलिए अगर आप stoploss लगाते हैं तो उसका descipline के साथ पालन करे |

How to trade in bank nifty future

अगर आप bank nifty में trade करना चाहते हैं तो ऊपर के सभी topics की जानकारी आपको होनी चाहिए, अब ये सभी के points जानने के बाद  प्रश्न आता है की आप बैंक nifty में trade कैसे करे | बैंक nifty में आप या तो future में trade कर सकते हैं या फिर options में |

Normally आप न्यूज़ या अपने trading terminal पर bank nifty का जो लेवल देखते हैं उसे bank nifty spot कहा है लेकिन बैंक nifty future में trade होता है इसलिए आपको bank nifty future का price देखना पड़ता है | अगर मार्केट में ट्रेंड तेजी का हो तो bank nifty future का price आपको हमेशा बैंक nifty spot के price से 50-100 points ऊपर नजर आएगा , जिसे कहा जाता है कि बैंक nifty प्रीमियम पर trade कर रहा है, वही पर अगर मंदी का रुख हो तो कभी – कभी बैंक nifty future का price बैंक nifty spot से निचे trade करता हुवा milega जिसे कहा जाता है कि बैंक nifty discount पर trade कर रहा है |

यह primum मार्केट condition के अनुसार घटता और बढ़ता रहता है और bank nifty expiry के दिन bank nifty future और bank nifty spot का price एक हो जाता है |

trade कैसे ले

बैंक nifty future में trade करने के लिए आपको बैंक nifty future का chart देखना पड़ेगा , अगर आप buyer हैं तो निचे के लेवल पर खरीद कर ऊपर के लेवल पर बेच कर अपना मुनाफा बुक कर सकते हैं |

उदाहरण के लिए अगर बैंक nifty spot का price 35500 है तो हो सकता है bank nifty future price आपको 35550 पे trade करता हुवा मिले, अब अगर आप इस लेवल पर buy करते हैं और 100 points ऊपर 35650 जाने पर बेच देते हैं तो आपका मुनाफा होगा

       मुनाफा = 35650 – 35550 = 100 * 25 = 2500 rupye

Bank nifty future के एक lot 25 quantity का होता है इसलिए यहाँ हमने 1 ही lot पे प्रॉफिट दिखाया है जो 100 points के move पर 2500 रूपये होते हैं |

Bank nifty future में trade करने के लिए कितने पैसे चाहिए ?

पहले अलग – अलग ब्रोकर के द्वारा बहुत ज्यादा मार्जिन दिया जाता था जिससे बैंक nifty के 1 lot के लिए आपको कम पैसे देने होते थे , लेकिन हाल ही में SEBI द्वारा मार्जिन को खत्म कर दिया गया है इसलिए आपको बैंक nifty का एक lot खरदने के लिए एक सामान ही पैसे देने होंगे चाहे आपका account किसी भी ब्रोकर के पास क्यों न हो, आम तौर पर bank nifty future के 1 lot को buy या sell करने के लिए आपको 1 लाख 60 हजार रूपये की जरुरत पड़ेगी |

यहाँ पर एक बात ध्यान देने वाली है Bank nifty future बहुत ही ज्यादा volatile होता है , अगर आप एक कुशल ट्रेडर हैं तो ही आपको इसमें trade करना चाहिए , और वो भी stop loss के साथ | नए ट्रेडर को बैंक nifty future में trade lene से बचना चाहिए |   

How to trade in bank nifty Options

शेयर मार्केट में ट्रेडर के बीच सबसे ज्यादा लोकप्रिय सेगमेंट है Bank nifty options trading, इसका कारण है अगर आप जानते हैं इसे कैसे trade करना है तो आप अपने कैपिटल पे एक दिन में 200-300% का मुनाफा बना सकते हैं वही अगर आप गलत हुवे तो आपका capital जीरो भी हो सकता है | Future के बाद स्टॉक मार्केट का सबसे risky सेगमेंट Options trading ही है | लेकिन फिर भी शेयर मार्केट में आपको बहुत से ऐसे ट्रेडर मिल जायेंगे जो Options में trade कर लाखो नहीं करोड़ो रूपये पर week के बना रहे हैं |

Bank nifty options में trade करने के लिए आपकी बैंक nifty chart reading में अच्छी पकड़ होनी चाहिए, आप बैंक nifty का सही से analysis कर ट्रेंड का अनुमान लगाने में सक्षम हों और साथ में आप Bank nifty option chain data को analyze कर पाए, तभी आप एक अच्छा trade पकड़ पाएंगे |

Bank nifty options buyer and seller

Bank nifty options को दो तरीके से trade किया जाता है या तो options को खरीद कर या बेच कर | Options खरीदने वाले options buyer कहलाते हैं और options को बेचेने वाले options seller या options writer कहलाते हैं |

Options buyer में ज्यादातर वैसे ट्रेडर होते हैं जिनके पास कम पैसे होते हैं , जो एक दिन में अपने options की प्रीमियम पर 2 गुना से 3 गुना तक return पाने की चाह रखते हैं | इसमें ज्यादातर रिटेल ट्रेडर शामिल होते हैं | इसका कारण है इसमें options buy करने के लिए आपको कम पैसे देने होते हैं |

उदाहरण के लिए अगर आपने बैंक nifty का कोई options चुना है और वह 100 के प्रीमियम पर trade कर रहा है तो आपको बैंक nifty का 1 lot खरीदने के लिए 2500 रूपये [25 (1 lot) * 100] ही देने होंगे |  

Options writer में ज्यादातर बड़े ट्रेडर शामिल होते हैं जिनके पास fund की कमी नहीं होती, इनमे ज्यादातर FIIS, DIIS और HNI इन्वेस्टर शामिल होते हैं आज कल कुछ रिटेलर भी भाग ले रहे हैं | इसमें आपको बैंक nifty options का एक lot बेचने के लिए बैंक nifty future के बराबर के पैसे लगेंगे जो है 1 लाख 60 हज़ार | इसलिए इसमें ज्यादा छोटे ट्रेडर भाग नहीं ले पाते |

Options Buyer or Options Seller

ऐसा कहा जाता है कि options buy करने में लिमिटेड risk और unlimited प्रॉफिट होता है वही पे options sell करने पर लिमिटेड प्रॉफिट और unlimited risk होता है , लेकिन आप को जान कर आश्चर्य होगा 98% Options buyer हमेशा नुक्सान करते हैं वही 90% options seller हमेशा मुनाफा कमाते हैं ऐसा क्यों ? विस्तार से समझते हैं –

आप जब भी options को buy करते हैं उसके साथ time वैल्यू जुड़ा रहता है और हर दिन धीरे- धीरे आपके options का प्रीमियम घटता जाता है यह बैंक nifty expiry तक चलता है अगर आपने weekly expiry का options ख़रीदा है तो जैसे – जैसे expiry नजदीक आएगा आपके options का प्रीमियम तेजी से घटेगा | और अगर आपका ख़रीदा गया options, Out of the money (इसकी चर्चा हम आगे करेंगे) है तो यह zero हो जायेगा |

ऊपर का उदाहरण अगर ले तो आपके options का प्रीमियम 100 है अगर आपका options in the money नहीं होता तो आपके 2500 रूपये की वैल्यू zero हो जाएगी |

वही दूसरी और time value, options seller का साथी माना जाता है उसने अगर options को 100 पे बेचा है और वह zero हो जाता है तो उसे 2500 रूपये (25 * 100) का मुनाफा हो जायेगा |

इसलिए ऐसा कहा जाता है कि बेवकूफ लोग options को buy करते हैं और समझदार लोग options को sell करते हैं लेकिन वैसे लोग जो options को buy कर पैसा बनाते हैं वे options seller से भी ज्यादा होसियार माने जाते हैं क्योकि अगर आपने options को सही लेवल पे ख़रीदा हो तो यह एक बार में आपके कैपिटल को 2 गुना से 3 गुना बना देगा | और ज्यादातर लोग अपने पैसे को 2 गुना से 3 गुना करने की उम्मीद से आते हैं और अपना पूरा पैसा गवा देते हैं |

Bank Nifty Option Chain related terms

एक Bank nifty option trader को बैंक nifty options chain के data को analyze करना आना चाहिए, अगर आप options chain के data को बैंक nifty chart के द्वारा निकाले गए लेवल से match करेंगे तभी आप सही ट्रेंड का अनुमान लगा पाएंगे | यहाँ हम बैंक nifty options chain analysis से पहले इससे जुड़े कुछ terms को एक-एक कर समझते हैं इसे समझने के लिए बैंक nifty option chain का example लेंगे | 

यहाँ पर हमने NSE की website से Bank nifty weekly expiry  का Option chain data लिया है |

bank nifty option chain nse
Bank nifty Option Chain NSE

  इस इमेज को अगर आप देखेंगे तो आपको दो सेक्शन मिलेंगे Call side और Put side. यहाँ हम सिर्फ option buyer के अनुसार बात कर रहे हैं अगर आप एक option buyer हैं और आप का अनुमान है की बैंक nifty में तेजी आएगी और इसका price 200 points ऊपर जायेगा , तो आपको तेजी के लिए Call side की option खरीदनी चाहिए | वही पर अगर आपका रुख मंदी की तरफ है और आपको लग रहा है बैंक nifty में 300 points की गिरावट आएगी तो आपको put side के option को खरीदना चाहिए | call तेजी को बताता है और put मंदी को |

What is  In the money option, at the money option and out of the money option ?

अगर आप इमेज पर call के ऊपर देखेंगे तो आपको बैंक nifty का price 38, 307 नजर आएगा जो बैंक nifty का spot price है और Bank nifty live  इसी price पे trade कर रहा है | अब इस price के सबसे नजदीक का strike price, at the money कहलायेगा | इसलिए अभी 38300 at the money कहलायेगा |

पहले हम Call side की बात करते हैं —.

इमेज पर 38300 के ऊपर के सभी strike price in the money कहलायेंगे , जैसे – 38200, 38100, 38000 इत्यादि, जो options इन the money होते हैं उनकी प्रीमियम की वैल्यू ज्यादा होती है |

अब इमेज पर 38300 के निचे के सभी strike price, out of the money कहलायेंगे, जैसे – 38400, 38500, 38600 इत्यादि | अगर आप देखेंगे तो आपको इनके प्रीमियम की वैल्यू कम दिखेगी, आप जितना दूर का out of the money का strike price लेंगे वो आपको सस्ता milega और उसके zero होने के संभावना उतनी ही ज्यादा होगी |

अब हम Put side की बात करते हैं —

put side में भी at the money 38300 ही होगा लेकिन in the money और out of the money, call side का उल्टा होता है | put side में 38300 के ऊपर का सभी strike price, out of the money कहलायेगा जैसे – 38200, 38100, 38000 इत्यादि | और 38300 के निचे का सभी strike price, in the money कहलायेगा, जैसे – 38400, 38500, 38600, 38700 इत्यादि |

ये समझने में थोरा tricky है लेकिन जब इसे एक- दो बार इमेज की सहायता से समझने का प्रयास करेंगे तो आप समझ जायेंगे |

Bank nifty strike price कौन सा ख़रीदे ?

अब प्रश्न आता है की आपको कौन सा strike price खरीदना चाहिए, आपको हमेशा at the money या इसके आस-पास के strike price को खरीदना चाहिए, क्योकि गिरावट या तेजी आने पर at the money के strike price का प्रीमियम सबसे तेजी से बढ़ता है चाहे आप call खरीद रहे हैं या put | अगर आप का view तेजी का है तो आप call side का option खरीदेंगे और अगर मंदी का है तो आप put side का option खरीदेंगे |   

दूसरी महत्वपूर्ण बात अगर expiry का दिन नजदीक हो तो आप हमेशा in the money की strike में trade करें | अगर expiry में बहुत ज्यादा समय बचा हो तो आप out of the money के strike price में trade ले सकते हैं |

Effect of india vix on bank nifty   

अगर आप एक option trader हैं तो आप को हमेशा VIX (volatility index) को चेक करते रहना चाहिए | दरअसल vix शेयर मार्केट में fear के sentiment को दर्शाता है जब भी आगे कोई बड़ा event आने वाला हो , लोगो के मन में मार्केट के डायरेक्शन को लेकर अनिश्चितता हो तो vix की वैल्यू बढ़ने लगती है | vix बढ़ने पर options की प्रीमियम भी बढ़ने लगती है, और जैसे ही event ख़त्म होता है vix की वैल्यू crash करने

 पर options की प्रीमियम में भी तेजी से गिरावट आती है और खासकर अगर आप एक option buyer है तो ऐसे condition में मुनाफा बनाना काफी मुश्किल होता है | इसलिए trading के समय vix को जरुर track करें |

Option seller or Option writer

अगर option seller के point of view से बात करे तो 10 में से 7 बार एक option writer मुनाफा कमाता है | ऊपर के इमेज के अनुसार अगर आप एक option seller हैं और आप का view बैंक nifty पे मंदी का है तो आप call side की options को बेचेंगे, वही अगर आपका view तेजी का है तो आप put side की options को बेचेंगे, क्योकि call का मतलब तेजी और put का मतलब मंदी |

एक Bank nifty option buyer तभी पैसा कमाता है जब या तो bank nifty में तेजी हो या गिरावट , परन्तु एक option seller, तेजी और मंदी के अलावे अगर bank nifty sideways भी हो तो भी वह पैसे कमाएगा, क्योकि time वैल्यू उसके साथ है और समय बीतने पर option का प्रीमियम कम होता जायेगा |

एक option seller out of the money strike price को बेचना ज्यादा सही समझता है क्योकि out of the money strike price का प्रीमियम तेजी से कम होता है जब expiry नजदीक हो |

इसलिए ज्यादातर केस में expiry के दिन option seller, trade करना ज्यादा पसंद करता है क्योकि सभी out of the money वाले options की प्रीमियम zero हो जाती है और उन्हें बेच कर वो अच्छा मुनाफा कमाता है |

Bank Nifty Option Chain Analysis

Bank nifty option chain analysis में एक बात आपको याद रखनी है यहाँ पर call और put side में जो भी data आपको milega वो option seller या option writer का data मान के चला जायेगा, अगर put side में ज्यादा position बन रही है इसका मतलब लोग put को ज्यादा बेच रहे हैं और put मंदी को दर्शाता है यानि वे मंदी को बेच रहे है इसका मतलब बैंक nifty में उनके अनुसार तेजी आएगी |

इसी प्रकार अगर उन्हें लगेगा की बैंक nifty में गिरावट या मंदी आएगी तो वे ज्यादा से ज्यादा call side के option को बेचेंगे |

यहाँ पे आपको अलग – अलग strike price पे अलग – अलग position दिखेगी जिसे open interest कहा जाता है |

बैंक nifty के option data में आपको पहले देखना है की call और put side में सबसे ज्यादा open interest कौन से strike price पर बना हुवा है | अगर हम ऊपर दिए गए option chain इमेज में देखे तो आपको call side में सबसे ज्यादा open interest 39000 के call पर milega जो है 1,01629,  तो ये बैंक nifty के ऊपर जाने में सबसे बड़े resistance के रूप में काम करेगा |

 call side में उसके निचे देखे  तो 38500 के strike price पर भी आपको 99,414 का open interest milega जो बैंक nifty के ऊपर जाने में पहला resistance होगा, उसके सामने अगर आप देखे तो (change in OI) section में आपको 42,725 की नयी position दिखेगी जो आज बनी है इसका मतलब लोगो का मार्केट में मंदी का view है इसलिए वे call को बेच रहें हैं | call side में बनी position हमेशा resistance को बतलाता है जो बैंक nifty की तेजी में रुकावट का काम करेगा | अभी bank nifty spot price 38300 है इसके ऊपर बैंक nifty के लिए पहला रुकावट का लेवल 38500 होगा, जब तब बैंक nifty इस लेवल को volume के साथ ब्रेक न करे और 38500 के ऊपर लगातार trade करना न शुरू करे call seller अपनी position नहीं काटेंगे, और जैसे ही बैंक nifty 38500 के ऊपर निकल कर trade करना शुरू करेगा, फिर  ये अपनी positon काटना शुरू करेंगे जिसे call unwinding कहा जाता है |

अब हम put side की बात करें तो put side में बना positon बैंक nifty को एक support देने का प्रयास करता है , यहाँ पर इमेज में put side में दूसरा सबसे ज्यादा open interest आपको 38000 के strike price पर milega जो है 49,412 , जो यह बताएगा की बैंक nifty को 38000 के जोन में support लेना चाहिए | put side में सबसे ज्यादा open interest बना हुवा है वो है 38500 पे, यहाँ पे सबसे ज्यादा open interest 60,606 है लेकिन अगर आप ध्यान दे बैंक nifty इसके निचे 38300 पर trade कर रहा है इसलिए technically ये सभी put writer जिन्होंने 38500 के put को बेचा हुवा है वे trap हो चुके हैं और बैंक nifty उनके लेवल से 200 points निचे trade कर रहा है |

अब जब भी बैंक nifty 38500 के लेवल के पास आएगा  वे लोग अपनी positon ख़त्म करना शुरू करेंगे जिस कारण बैंक nifty में फिर से गिरावट आएगी, इसलिए फिलहाल 38500 का लेवल एक resistance के रूप में काम करेगा, अगर आप put side में change in OI सेक्शन देखेंगे तो वह 38500 के सामने आपको 12100 minus में दिखेगा जो बताता है जिन्होंने put को बेचा है यानि short किया है अब वे अपने position को ख़त्म कर रहे हैं जिसे short cover करना कहते हैं |

Put call ratio (PCR)

Option chain में put call ratio एक important role प्ले करता है जब भी put call ratio 0.75 से निचे चला जाता है ऐसा माना जाता है कि लोगो ने बहुत ज्यादा short की position बना रखी है और इसके साथ अगर vix की वैल्यू घटने लेगे तो यह एक संकेत देता है की बैंक nifty में यहाँ से एक बाउंस करने की उम्मीद है अगर आपने short कर रखा है तो या आप आना मुनाफा बाँध ले या फिर सतर्क हो जाये , क्योकि बहुत ज्यादा गिरावट के बाद एक तगड़ा bounce back की उम्मीद होती है |

यही condition तेजी में भी होता है जब bank nifty में बहुत ज्यादा तेजी हो जाते है तो एक गिरावट की संभावना बन जाती है उस समय put call राशन 1.7- 1.8 के करीब तक पहुच सकता है ये वैल्यू तेजी और मंदी के मार्केट में बदलते रहते हैं |

Max pain level

Option chain में ये एक लेवल है जो option writer के लिए ज्यादा उसे होता है क्योकि कब भी बैंक nifty उस लेवल पे पहुच जाता है या उसे क्रॉस करके trade करना शुरू कर देता है option writer में भगदर मच जाती है और वे या तो अपनी positon adjust करने लगते हैं या फिर तेजी से अपनी position काटने लगते हैं ये ऐसा लेवल होता है जाता पर option seller को सबसे ज्यादा नुक्सान होने की संभावना बढ़ जाती है |   

Bank nifty News

जब भी मार्केट में bank ये bank nifty से जुड़ा हुवा कोई bank nifty न्यूज़ के आने की संभावना होती है उस दिन बैंक nifty में बहुत ज्यादा volatility होती है उस समय हो सकता है आपके लेवल काम न करें, इसलिए हो सके तो उस दिन बैंक nifty में trade करने से बचना चाहिए, या अगर आप trade करना ही चाहते हैं तो कम quantity में trade करे |

Disclaimer:-  इस लेख में लिखे नियम और  बैंक nifty से जुड़े data में समय – समय पर सेबी या exchange के द्वार फेरबदल किया जाता रहा है, इसलिए हम प्रयोग में लाये गए किसी भी data की सत्यता की जिम्मेदारी नहीं लेते |

FAQ (प्रश्न-उत्तर)

How many lots can we buy in bank nifty

यह आपकी क्षमता पर निर्भर करता है, अगर आप एक नए ट्रेडर हैं तो 1-2 lot अगर अनुभवी हैं तो आप खुद निर्णय ले सकते हैं |

Leave a Comment

Pin It on Pinterest

Byjus WhiteHat Jr को Rebranding करने की तैयारी में Maruti Suzuki Brezza 2022: नई ब्रेजा हुई लॉन्च, जाने डिटेल्स RJD regains single largest party tag in Bihar: बिहार में ओवैसी के 5 में से चार विधायक भागे ICICI Securities top pics best stock to buy Angel Broking top pics , best Stocks to buy