शेयर बाजार में कैसे निवेश करें | (How to Invest in Share Market in Hindi)

How to invest in share market in Hindi : हमारा आज का विषय है शेयर बाजार में कैसे निवेश करें ? शेयर मार्केट में हर कोई अपना पैसा निवेश कर सकता है लेकिन स्टॉक मार्केट में एक सफल निवेशक बनने और पैसा कमाने के लिए शेयर बाज़ार की जानकारी होना बहुत ज़रूरी हैं।

शेयर मार्किट में इन्वेस्टमेंट के दौरान क्या- क्या सावधानी बरतनी चाहिए, आपको कब इन्वेस्ट करना चाहिए कब नहीं, इन्वेस्टमेंट के दौरान अपने जोखिम को कैसे कम कर सकते है, स्टॉक मार्केट में इन्वेस्टमेंट के क्या – क्या माध्यम हैं, शेयर बाज़ार में निवेश करने के महत्पूर्ण नियम इत्यादि | इस लेख के हम share market investment से जुड़े सभी विषयों पर एक – एक कर विस्तार से चर्चा करेंगे |

नया निवेशक शेयर बाज़ार में निवेश की शुरुवात कैसे करे ? (How to invest in share market for Beginners)

how to invest in share market in hindi
how to invest in share market in hindi

एक नया निवेशक शेयर बाजार में किस तरह से अपनी मेहनत की कमाई को निवेश करके एक बड़ा मुनाफा कमा सकता है । हमारी आबादी का एक बहुत बड़ा हिस्सा आज भी शेयर मार्केट में निवेश करने से डरता है परंतु कुछ सालों में निवेश करने वालों की संख्या में काफी इजाफा हुवा है |  अभी भी बहुत से ऐसे लोग हैं जिन्हें यह नहीं पता कि शेयर बाजार में किस तरह निवेश किया जाए तो आज हम इस लेख के माध्यम से आपको बताएंगे कि आप किस तरह से शेयर बाजार में निवेश कर सकते हैं ।

शेयर बाज़ार में निवेश करने के तरीके (Different Ways to Invest in Share Market)

Direct Investment

शेयर बाज़ार निवेश करने के लिए पहला तरीका है की आप किसी भी कंपनी जो शेयर बाज़ार में लिस्टेड हो , उसका शेयर खरीद कर रख सकते हैं | परन्तु आपको खुद से शेयर खरीदने के लिए शेयर बाज़ार की समझ होनी चाहिए, आपको किसी शेयर के वैल्यूएशन के बारे में जानकारी होनी चाहिए, आप जिस कीमत पर उस शेयर को खरीद रहे हैं वो ज्यादा महंगा तो नहीं, वो कंपनी सही से अपना कारोबार कर रही है या नहीं, भविष्य को लेकर कंपनी के क्या प्लान हैं इत्यादि जानकारी के बारे में आपको पता होना चाहिए |

कहने का मतलब आपको उस कंपनी के फंडामेंटल्स के बारे में पता होना चाहिए | यहाँ पर आपके द्वारा किये गए सही कंपनी का चुनाव भविष्य में आपके पैसे को कई गुना बढ़ा देगा वही पर , गलत कंपनी में लगाया गया पैसे डूब भी सकता है |

इस लिए अगर आप सक्षम हैं तभी खुद से किसी शेयर को खरीदने के बारे में सोचे |

कुछ लोग निवेश करने के लिए अलग- अलग business channel को follow करते हैं और वहा पर आये एक्सपर्ट जिन शेयर के बारे में सलाह देते हैं वे आँख मूंद कर अपना पैसा उस शेयर में लगा देते हैं | परन्तु आपको सोचन चाहिए ये आपके मेहनत की कमाई है आपको दुसरो की सलाह पर इस तरह अपना पैसा कही भी – किसी भी शेयर में नहीं लगाना चाहिए |

Investment through IPO

कुछ लोग शेयर बाज़ार में सिर्फ IPO के द्वारा ही निवेश करते हैं वे नए IPO का इन्तजार करते हैं और उस आईपीओ में अपना पैसा लगा कर लम्बे समय के लिए छोड़ देते हैं | आपको ऐसे बहुत से उदाहरण मिल जायेंगे जिन शेयरों ने अपने IPO listing के बाद अब तक कई गुना return दिया हैं |

Investment through Mutual Fund

पिछले कुछ सालो में यह तरीका शेयर बाज़ार में निवेश करने का सबसे प्रचलित तरीके के रूप में सामने आया है | और यह तरीका उन लोगो के बीच सबसे ज्यादा चर्चित है जिन्हें शेयर मार्केट की समझ नहीं है बहुत कम जानकारी है, जो या तो खुद से शेयर के बारे में रिसर्च नहीं कर सकते या जिनके पास इन सब के लिए समय नहीं है , जो दुसरे किसी business से जुड़े हुवे हैं लेकिन फिर भी शेयर मार्केट में निवेश करना चाहते हैं | उन लोगो के के लिए mutual fund के जरिये निवेश करना बहुत ही आसान माध्यम हैं | आगे हम बतायंगे की आप किस तरह से mutual fund के जरिये शेयर मार्केट में निवेश कर सकते हैं |

Lumpsum Investment  and SIP Investment

कुछ लोग शेयर बाज़ार में एक मुस्त राशि एक बार में निवेश करते हैं जिसे lumpsum इन्वेस्टमेंट कहा जाता है  तो कुछ प्रत्येक महीने थोड़ी -थोड़ी राशि निवेश करते जाते हैं जिसे SIP Investment  कहा जाता है | आप अपनी सुविधा अनुसार कोई भी तरीका चुन सकते हैं |


इस लेख में हम निवेश से संबंधित सभी जानकारियां देने का प्रयास करेंगे तो आप से आग्रह  है कि इस लेख को अंत तक पढ़ें जिससे आपको सभी जानकारियां आसानी से समझ में आ जाए ।

शेयर बाजार में निवेश करने से पहले कुछ जरूरी दिशा निर्देश (Stock market investment tips)

  • अगर आपके ऊपर किसी भी प्रकार का कर्ज है जहां आपको बहुत ज्यादा ब्याज देना पड़ रहा हो तो शेयर बाजार में निवेश करने से अच्छा है कि आप पहले उस कर्ज का भुगतान करें ।

  • अपनी जरूरत में इस्तेमाल होने वाले पैसे को आप कभी भी शेयर बाजार में निवेश मत करें उदाहरण के लिए अगर आपके पास अपने मकान का किराया देने के लिए पैसे हैं , अपने बेटी या बहन की शादी करने के लिए पैसे हैं,  इलाज के लिए पैसे हैं , अपनी पढ़ाई के पैसे हैं , तो इन पैसों को आप कतई शेयर बाजार में निवेश ना करें ।
  • आपको हमेशा उस पैसे को निवेश करना चाहिए जिसको निवेश करने से तत्काल आपके ऊपर किसी भी तरह की परेशानी ना आए । इसलिए सलाह दी जाती है कि आप अपनी जरूरतों के बाद, जो पैसे आपके पास बचते हैं आप उन्हें ही निवेश करने का प्रयास करें ना कि अपनी जरूरत के पैसों को ।

  • जब भी आप शेयर बाजार में निवेश करने का सोच रहे हैं तो आपके पास इतने पैसे अवश्य होने चाहिए कि आप 6 महीने तक आराम से जीवन यापन कर सकें क्योंकि हो सकता है आपके पास जो भी पैसे हो उसे आपने निवेश कर दिया और अचानक से आपकी नौकरी छूट गई या फिर किसी तरह का मुसीबत आ गया तो,  तो इसके लिए हमेशा आपके पास इमरजेंसी फंड के रूप में 6 महीने  का वेतन होना चाहिए ।

  • आपको अपने सभी पैसे एक बार में निवेश नहीं करना चाहिए आप अपने कुल बचत का कुछ ही भाग एक बार में निवेश करें ।

शेयर बाजार में निवेश कैसे करे ? (How to invest in Share Market in Hindi)

जैसा की हम पहले बता चुके हैं आप शेयर मार्केट में सीधे तौर पर कंपनी का शेयर खरीद का निवेश शुरू कर सकते हैं या फिर mutual fund के द्वारा अपना निवेश शुरू कर सकते हैं |

अब हम जानते हैं कि सीधे तौर पर आप शेयर कैसे ले सकते हैं | किसी भी कंपनी का शेयर खरीदने के लिए पहले आपको पता करना पड़ेगा की वह कंपनी शेयर बाज़ार में listed है या नहीं, अगर वह कंपनी listed हैं तभी आप उसका शेयर खरीद पाएंगे |

सभी शेयर आपको भारतीय exchange  (NSE और BSE) पर मिल जायेंगे, लेकिन आप उनसे direct शेयर नहीं खरीद पाएंगे | इसके लिए आपको किसी शेयर ब्रोकर से संपर्क करना पड़ेगा , और उस शेयर ब्रोकर के पास अपना demat account और trading account खुलवाना पड़ेगा | अब आप अपने trading account में जैसे ही किसी शेयर को खरीदने के लिए order लगायेंगे आपका ब्रोकर आपका order exchange तक भेज देगा और वह शेयर आके demat account में आ जायेगा |

आज कल शेयर बाज़ार में निवेश करना बहुत ही आसान हो गया है आपको सभी ब्रोकर के के website और mobile aap मिल जायंगे, जहा से आप account खुलवा सकते हैं | आगे हम अलग – अलग शेयर ब्रोकर और उसके प्रकार के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे |

अब हमारे सामने पहला प्रश्न आता है कि आप शेयर बाज़ार में निवेश क्यों करना चाहते हैं ?

शेयर बाज़ार में  निवेश क्यों करना चाहते हैं ? (Why every one should invest in stock market)

अलग -अलग लोग शेयर बाज़ार में अलग -अलग उद्देश्य लेकर आते हैं जैसे कुछ लोग अपने पैसे को कई गुना बढ़ा कर उसपर अच्छा मुनाफा करने के उद्देश्य से आते हैं तो कुछ लोग अपने निवेश को अन्य आय का जरिया सोच करे शेयर बाज़ार में निवेश करते हैं जैसे dividends लेकर , या कुछ लोग कार या घर खरीदने के उदेश्य से निवेश शुरू करते हैं तो कुछ लोग बिना उदेश्य की ही निवेश शुरू कर देते हैं | कहने का मतलब आप जब भी निवेश शुरू करे आपका उदेश्य निश्चित होना चाहिए | एक निश्चित उदेश्य ये आप ये अंदाजा लगा सकते हैं की आपको कितनी राशि और कितने समय तक निवेश करना पड़ेगा |

इसे भी पढ़े – Why Investment is important, Where to invest money in Hindi | निवेश क्यों करना चाहिए और कहाँ करे ?

निवेश करने के लिए कितने पैसे होने चाहिए ?

कुछ लोगो का मानना है की जब आप के पास बहुत सारे पैसे होंगे आप तभी शेयर बाज़ार में निवेश कर पाएंगे परन्तु यह पूरी तरह से गलत है अब आप 500 रुपये की छोटी राशि से भी अपना निवेश शुरू कर सकते हैं अलग – अलग लोगो को अलग-अलग आय होती है परन्तु लोग अपनी जरूरतों को पूरी करने के बाद जो राशि राशि बच जाती है उसे निवेश कर देते हैं यह आप पर है आप अपनी आय कर 20 % या फिर 30 % निवेश करते हैं | अगर आप महीने का 4 – 5 रुपये भी बचा कर निवेश करते हैं तो लम्बे समय में यह आपको एक बहुत बड़ी रकम में परिवर्तित हो जायेगा |

शेयर मार्किट में निवेश करने के लिए आपको किन चीजो की आवश्यकता होगी ?

  • बैंक में खाता (Bank Account) (अपने बैंक का खाता आप किसी भी सरकारी या निजी बैंक में खुलवा सकते हैं ।)
  • ट्रेडिंग खाता और डीमैट खाता (अपना खुलवाने के लिए click करे Open Demat Account)
  • कंप्यूटर या लैपटॉप या मोबाइल इंटरनेट कनेक्शन

डीमैट खाता और ट्रेडिंग खाता खुलवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज (Required Documents to open Demat Account) –

  • पैन कार्ड
  • आधार कार्ड
  • कैंसिल किया हुआ चेक या बैंक स्टेटमेंट या पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फोटो


शेयर बाजार में निवेश करने के लिए और आपको अपना डिमैट खाता खुलवाने के लिए पैन कार्ड एक आवश्यक डॉक्यूमेंट है अगर आपके पास पैन कार्ड नहीं है तो आप इसे आसानी से बनवा सकते हैं आपकी उम्र 18 वर्ष या उससे ऊपर की होनी चाहिए ।


निवेश करने के लिए आपको डिमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट की आवश्यकता होती है जिसे आप किसी भी ब्रोकर के यहां खुलवा सकते हैं तो हमारे सामने प्रश्न आता है कि हमें कौन सा ब्रोकर चुनना चाहिए ।

अपना स्टॉक ब्रोकर कैसे चुने ? (How to choose your stock broker)


भारतीय शेयर बाजार में दो तरह के Stock Brokers कार्यरत हैं –
  • फुल सर्विस ब्रोकर्स (Full Service Brokers)
  • डिस्काउंट ब्रोकर्स (Discount Brokers)
फुल सर्विस ब्रोकर्स (Full service brokers)

जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है फुल सर्विस ब्रोकर डिस्काउंट ब्रोकर की तुलना में अतिरिक्त सुविधाएं प्रदान करते हैं जैसे वे समय-समय पर अलग-अलग   शेयरों पर अपनी रिसर्च और  रिपोर्ट प्रकाशित करते हैं कौन से शेयर में कब निवेश करना है या नहीं इसकी सलाह देते हैं | अलग-अलग शहरों में इनकी शाखाएं होती हैं जहां पर जाकर आप निवेश सम्बंधित कई प्रकार की जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं | उनके पास अच्छा खासा सपोर्ट सिस्टम होता है जो किसी भी समय अपने क्लाइंट की   सहायता के लिए   तैयार रहते हैं । वे फॉरेक्स, म्यूच्यूअल फंड्स, आईपीओ, बांड्स  और इंश्योरेंस में निवेश करने की सुविधा देते हैं आमतौर पर ये डिस्काउंट ब्रोकर की तुलना में ज्यादा  ब्रोकरेज लेते हैं ।

कुछ फेमस फुल  सर्विस ब्रोकर हैं के नाम हैं icicidirect, sharekhan, kotak सिक्योरिटीज, HDFC सिक्योरिटीज, Motilal Oswal इत्यादि |

डिस्काउंट ब्रोकेर्क्स (Discount brokers)

कुछ समय पहले तक भारतीय शेयर बाज़ार में फुल सर्विस ब्रोकर्स का दबदबा था परन्तु डिस्काउंट ब्रोकर्स के आने के बाद लोगो ने डिस्काउंट ब्रोकर्स के पास तेजी से अपना demat खाता खुलवाना शुरु किया | डिस्काउंट ब्रोकर कम ब्रोकरेज लेते थे |

 आमतौर पर डिस्काउंट ब्रोकर आपको एक demat अकाउंट के साथ एक अच्छा trading प्लेटफार्म देते हैं परन्तु ये फुल सर्विस ब्रोकर की तरह किसी भी प्रकार की रिसर्च रिपोर्ट या निवेश से सम्बंधित सलाह नहीं देते | आमतौर पर इनका एक main office होता है जहा से ये अपना सारा काम संचालित करते हैं आप इनसे ऑनलाइन ईमेल या फिर फ़ोन के द्वारा सहायता प्राप्त कर सकते हैं |

कुछ बेहद चर्चित डिस्काउंट ब्रोकर के नाम है Upstox, 5 Paisa, Zerodha इत्यादि |

वर्तमान में जेरोधा के पास सबसे ज्यादा क्लाइंट हैं और दुसरे नंबर पर icicidirect का नाम आता है | लेकिन Upstox भी अपने उन्नंत trading platform और अच्छी customer सर्विस के लिए तेजी से बढ़ रहा है |

लेकिन अब बहुत से full सर्विस ब्रोकर ने भी अपने ब्रोकरेज चार्जेज घटा दिए हैं अब आपको दोनों ब्रोकर के लिए लगभग एक ही ब्रोकरेज देना पड़ेगा इसलिए आप किसी भी ब्रोकर के यहाँ अपना Demat Account खुलवा सकते हैं |

परन्तु हमारे Referal link से अपना demat account खुलवाने पर आप हमसे stock मार्केट के बारे में फ्री परामर्श ले सकते हैं demat account

खुलवाने के लिए निचे दिए link पर click करे —

शेयर मार्केट में शेयर कैसे ख़रीदा और बेचा जाये ? (How to Buy and Sell Share)

जब आप अपने किसी पसंदीदा स्टॉक ब्रोकर के पास अपना Trading और Demat अकाउंट खुलवा लेते है, तो आपका ब्रोकर आपको शेयर खरीदने और बेचने के लिए Trading Account का USER ID और PASSWORD देता है जिससे आप उस ब्रोकर के trading platform पर login होकर शेयर को खरीद और बेच सकते हैं । 

जैसे ही आप किसी शेयर खरीदने  के लिए आर्डर लगाते हैं वह आर्डर सीधा स्टॉक एक्सचेंज (NSE और BSE) के पास जाता है वहां से जिस प्राइस पर आप शेयर खरीदना चाहते है। अगर उस प्राइस पर कोई seller शेयर बेचने को तैयार बैठा है तो आपका आर्डर पूरा हो जायेगा ओर ब्रोकर आपको कन्फर्मेशन दे देगा की आपका आर्डर पूरा हो चूका है और वो शेयर आपके डीमैट अकाउंट में T+2  यानी दुसरे दिन जमा करा दिया जायेगा | इस article के लिखने तक यह अवधि T+2 दिन की थी लकिन , कुछ न्यूज़ channel में बताया गया था की अब यह अवधि T+1 होने जा रही है यानि एक दिन में ही शेयर की खरीद और बिक्री की settlement हो जाएगी |

निवेश करने के लिए शेयर कैसे चुने (How to choose share to invest)

एक नए निवेशक के लिए मुश्किल होता है की कौन से शेयर में अपना पैसा लगाये | शुरुवात में आपको वैसे शेयर को चुनना चाहिए जिसके उत्पाद को आप अपनी रोजमर्रा की जिन्दगी में उपयोग करते हो | शुरुवात में हमेशा ऐसे शेयर को प्राथमिकता दे जिनके उत्पाद आप के आस पास हो |

उदाहरण के लिए अगर आपके पास दो पहिया वहां है तो आप बजाज या फिर Eicher Motor की Royal Enfield के बारे में सोच सकते हैं | अगर आप चार पहिये वाहनों को में देखे तो आप मारुती को देख सकते हैं , आप अगर सोन्दर्य से सम्बंदित उत्पाद देखे तो शैम्पू, साबुन, तेल , क्रीम, इत्यादि के लिए हिंदुस्तान उनिलेवर को देख सकते हैं , बर्तनों में इस्तेमाल होने वाले प्रेस्टीज कूकर को देख सकते हैं खाद्य पदार्थ में magi जिसका उपयोग घर- घर में होता हो उसकी बनाने वाली कंपनी नेस्ले इंडिया है , आप जो बिस्कुट का उपयोग करते है जैसे Parle, Good day ये Britania कंपनी बनाती है | इसी प्रकार आपको सेकड़ो ऐसे प्रोडक्ट मिल जायेंगे उनको बनाने वाली पैरेंट कंपनी के बारे में पता करे , वो शेयर बाज़ार में लिस्टेड है या नहीं |

निवेश करने से पहले उस शेयर की कंपनी के बारे में पता करे वो किस तरह अपना काम काज कर रही है उसके उत्पाद बाज़ार में बिक रहे है या नहीं , कंपनी मुनाफा बना रही है या नहीं कंपनी पे कितना कर्जा है अगर कर्जा है तो कंपनी उसका भुगतान कर रही है या  नहीं , भविस्य में उस कंपनी के उत्पाद बाज़ार में रहेंगे या नहीं, आने वाले समय में कंपनी किस तरह परफोर्म करेगी इत्यादि |

इसलिए शुरुवात में आपको वैसी कंपनी में अपने पैसे लगाने चाहिए जिसकी आपको समझ हो |

शुरुवात में एक नए निवेशक वो वैसे कंपनियो को चुनना चाहिए जो कई सालो से अपना कारोबार कर रही हो और आगे भी उनसे अच्छा कारोबार करने की उम्मीद की जा रही हो |

एक बार आप कंपनियों के बारे में जानना शुरु करेंगे तो धीरे – धीरे आपको अलग – अलग क्षेत्रो की कंपनी के बारे में समझना शुरु कर देंगे |

Stock Market Golden rules for Investment  ,  (शेयर बाज़ार में निवेश करने के कुछ अहम नियम)

शेयर मार्केट में सही निवेश की पहली सीढ़ी है ऐसे शेयर्स का चुनाव जो लंबे समय के दौरान अच्छा मुनाफा देने की संभावना रखते हैं हों. ऐसे शेयरों की पहचान यूं ही सिर्फ सुनी-सुनाई बातों या यहां-वहां से मिलने वाले टिप्स के आधार पर करना ठीक नहीं होता. अगर आप चाहते हैं कि कम से कम जोखिम में आप बाजार से बेहतर रिटर्न हासिल करें, तो आपको कुछ खास बातों पर ध्यान देकर आप सही शेयर का चुनाव कर सकते हैं.

कर्जमुक्त या कम कर्ज वाली कंपनियों का चुनाव  (Choose Debt free companies)

किसी भी कंपनी में निवेश करने से पहले देखे की कंपनी पर क़र्ज़ कितना हैं, वैसे कंपनी जिनपर क़र्ज़ न हो या बहुत कम क़र्ज़ हो उन्हें निवेश करने के लिए प्राथमिकता दे | आपको यह भी देखना है की कम्पनी समय- समय पर अपने क़र्ज़ का भुक्तान कर रही है या नहीं | वैसे कंपनी में निवेश न करे जिन्होंने हद से ज्यादा क़र्ज़ ले रखा है या फिर जो क़र्ज़ के पैसो से कारोबार कर रही हैं | कर्ज कम होने से कंपनियों पर कैश को लेकर दबाव नहीं रहता है |

अच्छी क्वॉलिटी के शेयर का चुनाव सस्ती कीमत पर

अपने निवेश पर सुरक्षा की गारंटी पाने के लिए हमेशा आपको अच्छी क्वालिटी के शेयरों में निवेश करना चाहिए | यानी ऐसी कंपनी जिसकी वित्तीय स्थिति और पिछले कुछ सालों का प्रदर्शन अच्छा हो. निवेश की सुरक्षा के लिहाज से वैसे कंपनी में निवेश करे जिनका मार्केट कैप  कम से कम 500 करोड़ रुपये हो, इसके अलावा शेयर का PEG यानी Price to Earnings Growth Ratio एक से कम होना चाहिए. इससे कंपनी के शेयर की सही वैल्यूएशन का पता चलता है |

Investment के लिए समय का इंतजार

दुनिया के सबसे बड़े निवेशक Warren Buffe के अनुसार निवेश के लिए कोई वक़्त अच्छा या बुरा नहीं होता, आपको निवेश के लिए मार्केट में वक्त का इंतजार नहीं करना चाहिए | अगर किसी अच्छे कंपनी के शेयर (Best Stock to invest) अगर सही कीमत में मिल रहे हैं तो बिना सोच- विचार के  निवेश शुरू कर दें. भले ही उस समय मार्केट में दबाव देखने को मिल रहा हो |

 आम निवेशक सही समय के इंतजार में मार्केट में निवेश नहीं कर पाते. और समय बीत जाने के बाद मार्केट की चाल को देखकर ऊंचे स्तरों पर पहुंचे शेयर में निवेश कर देते हैं और घाटा उठा लेते हैं |

दूसरों को नक़ल न करे

अगर आपका कोई परिचित किसी शेयर में पैसा लगा रहा है तो उसे देख कर आप भी उस शेयर में पैसा लगाने की न सोचे जब तक आपको उस शेयर के बारे में सही से न पता हो | क्योकि बिना सोचे समझे निवेश करने पर आप आप नुकसान उठा सकते हैं | शेयर मार्केट में सफल होने का मंत्र (Stock Market investment mantra) है कि आप लोगों के पीछे न चलें, बल्कि लोग आपके पीछे चले. warren Buffe के अनुसार, जब दूसरे लालच में आ रहे हों तो आप सतर्क हो जाएं. वहीं, जब दूसरे सतर्क रुख अपनाने की कोशिश कर रहे हों तो कमाने के बारे में सोचने लगें |

कीमत पर न जाएं, वैल्यू देखें

किसी कंपनी के शेयर की कीमत देख कर उसमे निवेश करने या न करने का desision नहीं लेना चाहिए | एक ज्यादा कीमत वाला शेयर भी वैल्यूएशन के हिसाब से सस्ता और एक कम कीमत वाला शेयर वैल्यूएशन के हिसाब से महंगा हो सकता है |

कभी भी किसी शेयर में पैसा लगाने के पहले ये न देखें कि इस शेयर की कीमत ज्यादा है तो यह बेहतर होगा. कई बार 50 से 100 रुपए के बीच की कीमत वाला शेयर ज्यादा मूल्यवान हो सकता है, अगर उस कंपनी का प्रदर्शन बेहतर है. शेयर मार्केट के दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला (Rakesh Jhunjhunwala) के अनुसार किसी भी शेयर में पैसा लगाने के पहले उस कंपनी का प्रदर्शन देखे और पता करे की  कंपनी का प्रदर्शन बेहतर है है या नहीं | 

डिविडेंड देने वाली कंपनियों पर करें भरोसा (Trust Dividend paying Companies)

निवेश के लिए बेहतर शेयर के चुनाव की एक और कसौटी अच्छा डिविडेंड भी हो सकता है. डिविडेंड यानी लाभांश का अर्थ है वो मुनाफे का वो हिस्सा जो कंपनी अपने शेयरधारकों में बांटती है. लगातार डिविडेंड से न सिर्फ शेयरधारक को सीधे-सीधे निवेश पर रिटर्न मिलता है, बल्कि इससे कंपनी की अच्छी वित्तीय सेहत का भी पता चलता है. निवेश से पहले कंपनी के पिछले 5 साल का डिविडेंड देने का रिकॉर्ड देखना चाहिए. साथ ही कंपनी का डिविडेंड-पे-आउट रेशियो 40 फीसदी से कम हो तो बेहतर. क्योंकि इससे पता चलता है कि कंपनी अपने लाभ का एक हिस्सा बांटने के बाद बाकी रकम बिजनेस के विस्तार में भी लगाती है.

एक्सपर्ट्स का मानना है कि निवेश करने के पहले ये देख लें कि कौन सी कंपनियां रेगुलर डिविडेंड दे रही हैं. अगर कोई कंपनी रेगुलर बेसिस पर डिविडेंड दे रही है तो इसका मतलब है कि उस कंपनी के पास कैश की कोई कमी नहीं है. कैश सरप्लस वाली कंपनियों का प्रदर्शन भी बेहतर रहता है. ऐसे में इन कंपनियों के शेयर के साथ आपका पैसा ज्यादा तेजी से बढ़ने का चांस रहता है.

 भविष्य में शेयर में ग्रोथ की अच्छी संभावना

बेहतरीन शेयर के चुनाव के लिए यह भी एक अहम कसौटी हो सकती है. परन्तु किसी भी शेयर या कंपनी कि ग्रोथ की अच्छी संभावना और वाजिब कीमत का अंदाजा कैसे लगाएं. बुनियादी तौर पर मजबूत शेयर का P/E यानी प्राइस-टू-अर्निंग्स रेशियो अगर 15 से कम है, तो उस शेयर की कीमत को वाजिब मान सकते हैं. पिछले 5 साल में कंपनी की earning growth कम से कम 20 फीसदी होनी चाहिए |

इसके अलावे साल दर साल (YoY) आधार पर, पिछली तिमाही की अर्निंग्स ग्रोथ और पिछले 12 महीनों की ट्रेलिंग अर्निंग्स ग्रोथ भी कम से कम इतनी ही यानी 20 फीसदी होनी चाहिए |

इन तमाम कसौटियों पर खरा उतरने वाला शेयर आने वाले दिनों में कम जोखिम में अच्छा रिटर्न देने वाला साबित हो सकता है | ये बातें बेहतर निवेश के लिए अपनाई जाने वाली कुछ महत्वपूर्ण बातों में शामिल हैं |

Macro and Micro Economic Factors

अंत में निवेश के वक़्त आपको चुने हुवे शेयर से जुड़ी खबरों, संबंधित इंडस्ट्री की दशा-दिशा और पूरी इकॉनमी को प्रभावित करने वाले राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय हालात जैसी बातों पर नजर रखना भी जरूरी है |

कब आपको शेयर को बेचना चाहिए ?

जब आप किसी कंपनी में निवेशित हैं और कंपनी लगातार आपको अच्छा मुनाफा दे रही है तो आप उस कंपनी में निवेशित रहना पसंद करेंगे परन्तु अगर कुछ विषम परिस्थियों के चलते आपको पैसे को आवस्यकता हो तो आप अपने शेयर बेच सकते हैं |

अगर किसी कंपनी के फंडामेंटल बदल रहे हो और आपको लगे की वो कंपनी अब पहले की तरह नहीं चल पायेगी या भविष्य में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पायेगी तो आप उस कंपनी के शेयर बेच सकते हैं |

जब आपको लगे की कोई दूसरी कंपनी जो आपको भविष्य में आपके द्वारा निवेशित पहली कंपनी से अच्छा मुनाफा दे सकती हो और सस्ती कीमत पर मिल रहा हो तो आप पहली कंपनी से दूसरी कंपनी में जा सकते हैं |

जब आपने किसी विशेष उदेश्य की पूर्ति के लिए निवेश शुरु किया हो (जैसे वहां खरीदना, घर खरीदना इत्यादि ) और आपके निवेश की अवधि पूरी हो गयी हो तो आप अपनी निवेश की हुई राशी निकल सकते हैं |

निवेश के बारे में जानकारी कहा से प्राप्त करे ?

आज हम इंटरनेट की दुनिये में जी रहे हैं जहा पर किसी भी चीज के बार में जानकारी प्राप्त करना बहुत ही आसान हो गया है है इंटरनेट पर बहुत से अच्छे ब्लॉग हैं बहुत से अच्छे यूट्यूब चैनल बने हैं जहा से आप निवेश के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं इसके अलावे अगर आप किताबो के पढ़ने के शौकीन हैं तो निवेश से सम्बंधित बहुत सारी किताबे मौजूद हैं जिन्हे आप पढ़ कर निवेश के बार में ढेर सारा ज्ञान अर्जित कर सकते हैं |

निचे निवेश से सम्बंधित बहुत सारी बेहतरीन किताबो (Share market books in hindi) की जानकारी दी गयी है जिन्हे आपको अवश्य  पढ़ना  चाहिए |

अंग्रेजी में (Stock market books in english)

The Intelligent Investor by Benjamin Graham

One up on wall street by Peter Lynch

Common stocks and uncommon profits by Philip Fisher

The Dhandho Investor by Mohnish Pabrai

The little book that beats the market by Joel Greenblatt

Flirting with Stocks: Stock Market Investing for Beginners- Anil Lamba

Money Master the game- Tony Robbins

Fundamental Analysis- Raghu Palat

Let’s Talk Money: You’ve Worked Hard for It, Now Make It Work for You

How to make money in stocks- William O Neil

How I made $2 Million in the Stock Market- Nicolas DarvisRich Dad’s Guide to Investing- Robert Kiyosaki

हिंदी रूपांतरण (Stock market books in hindi)

इसके अलावे भी बहुत सारी अच्छी किताबे हैं जिन्हे आपको पढ़ना चाहिए जिनसे आपके अंदर आत्मविश्वास और सकारात्मक उर्जाये आयंगी और इन किताबो को पड़ने से आपको एक तरह की प्ररणाये मिलेंगी जो आपकी जिंदगी में परिवर्तन लाएगा इन किताबो की जानकारी आप यहाँ से प्राप्त कर सकते हैं |

निवेश में जोखिम से बचने हेतु कुछ महत्वपूर्ण बाते (How to minimize risk on your Investment) :-

शेयर बाजार में लोग अच्छा मुनाफा कमाने के उद्देश्य से निवेश करते हैं क्योंकि यहां आपको किसी भी बैंक के  FD (Fixed Deposit) से ज्यादा रिटर्न मिलता है परंतु  यहाँ आपको लंबे समय के लिए निवेश करना पड़ता है आपको बहुत सारे उदाहरण मिल जाएंगे जिन लोगों ने शेयर बाजार से बहुत सारे पैसे कमाए हैं तो कुछ लोग ऐसे भी मिलेंगे जिन लोगों ने अपने पैसे गवाएं हैं ।

  • जब भी आप निवेश की शुरुवात करे आपना सारा पैसा एक साथ निवेश मत करे | एक नए निवेशक को शुरुवात में कम पैसे से निवेश शुरू करना चाहिए | शुरुवात में आप सिखने के लिए निवेश शुरू कर सकते हैं जैस- जैसे आप अनुभव प्राप्त करेंगे आप अपनी निवेश की राशि बढ़ा सकते हैं |
  • आपको कभी भी अपना सारा पैसा किसी एक शेयर या किस एक क्षेत्र के कंपनी में नहीं लगाना चाहिए | आपने अपनी लिस्ट में जो शेयर खरीद के रखे और वो अलग- अलग सेक्टर के होने चाहिए , इसे हम diversified Portfolio कहते हैं |
  • उदाहरण के लिए अगर किसी एक सेक्टर में मंदी आती हैं तो आपके portfolio में उसी सेक्टर के शेयर गिरेंगे बाकी के शेयर में कम या फिर नहीं के बराबर गिरावट आयगी |
  • एक नए निवेशक को अपने शुरुवाती दिनों में वैसे कम्पनीयों में निवेश करना चाहिए जो fundamentally काफी मजबूत हो और लम्बे समय से बाज़ार में कारोबार कर रही हो , ऐसे कंपनिया अपने सेक्टर की लीडर होती हैं | इन्हें bluechip स्टॉक भी कहा जाता है bluechip कंपनियों के बार में आप इस लेख (भारत की 10 बेहतरीन bluechip कंपनिया ) को पढ कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं |
  • शेयर बाज़ार में जैसे ही आप demat खाता खुलवाते हैं अगले दिन से आपको advisory कंपनियों से फ़ोन कॉल आना शुरु हो जायेगा वो आपको लुभाने का प्रयास करेंगे और उनकी सर्विस लेने के लिए कहेंगे | ऐसे advisory कंपनियों के सलाह पर कभी निवेश न करे नहीं तो आपका पैसा डूब सकता है |
  • वैसे भी हमें दुसरो की सलाह पर निवेश नहीं करना चाहिए , अगर कोई मित्र आपको किसी शेयर की सलाह देता है तो पहले खुद से उस शेयर के बार में पूरी रिसर्च करे और वो शेयर आपको सही लगे तभी आपको उसमे निवेश करना चाहिए |
  • भारतीय शेयर बाज़ार में 5 हज़ार से ज्यादा कंपनिया लिस्टेड हैं जो अलग – अलग क्षेत्र में कारोबार करती हैं नए निवेशक को हमेशा ऐसे कंपनी को चुनना चाहिए जिसके बिज़नस की उन्हें समझ |
  • उदाहरण के लिए Bata एक जूता बनाने वाली कंपनी हैं एक निवेशक पता कर सकता हैं इस साल कंपनी ने कितने जूते बेचे , उसने कितना मुनाफा कमाया , उसके जूतों की बाज़ार में मांग है या नहीं , उसमे लगने वाले कच्चे माल की कीमत बढ़ी है या घटी है  इत्यादि वही पर अगर आप कोई केमिकल बनाने वाली कंपनी चुनते हैं तो आपको उनके बिज़नस के बारे में जानने में मुस्किल आयेगी |
  • शेयर बाज़ार में कभी भी रातो रात करोडपति बनने के मकसद से न आये | यहाँ आपको हमेशा योजनाबद्ध तरीके से निवेश करना हैं बैंक FD में 6%, ब्याज मिलता है म्यूच्यूअल फण्ड में एवरेज 12% , इसलिए आपको ऐसे शेयर को चुनना है जो उनसे ज्यादा मुनाफा दे तभी आपका पैसा लम्बी अवधि में एक अच्छा मुनाफा बनाकर देगा |
  • शेयर बाज़ार में लगातार निवेश करने की आदत डाले और हो सके तो प्रत्येक वर्ष निवेश की राशि को थोरा बहुत बढ़ाते चले कुछ सालो बाद आपको इसका फायदा नजर आने लगेगा |

How to invest in Share Market Youtube Video

निचे विडियो में बताया गया है कि आ शेयर मार्केट में कैसे निवेश कर सकते हैं —

YouTube player


Leave a Comment

Pin It on Pinterest

Byjus WhiteHat Jr को Rebranding करने की तैयारी में Maruti Suzuki Brezza 2022: नई ब्रेजा हुई लॉन्च, जाने डिटेल्स RJD regains single largest party tag in Bihar: बिहार में ओवैसी के 5 में से चार विधायक भागे ICICI Securities top pics best stock to buy Angel Broking top pics , best Stocks to buy