जूते- चप्पल का कारोबार करने वाली कंपनियां | Top footwear companies in India [Bata India, Relaxo footwear, Mirza International]

Footwear companies in India : भारत की आबादी 100 करोड़ से ऊपर की है आप इससे अंदाजा लगा सकते हैं की यहाँ footwear कंपनियों के लिए कितना बड़ा बाज़ार है | कई कंपनियां footwear बनाने के कारोबार में बरसो से हैं और आज वे इस क्षेत्र में मार्केट लीडर हैं, इस पोस्ट में हम इन्ही कंपनियों के बारे में विस्तार से बताएँगे |

भारत की जूते- चप्पल बनाने वाली कंपनियां (Top Footwear companies in India in Hindi)

Footwear companies in India
Footwear companies in India

भारत में footwear sector की बात करें तो यहाँ बहुत सारी छोटी से बड़ी कंपनियां है जो जूते, चप्पल इत्यादि के कारोबार में हैं जैसे Bata India, Relaxo footwear, Mirza International, shreeleathers, khadims India, Bhartiye Int, Liberty shoes इत्यादि | लेकिन एक निवेशक के तौर पर प्रश्न आता है इनमे निवेश करने के लिए अच्छे शेयर का चुनाव कैसे करें |

उसके लिए आपको कंपनी के वित्तीय हालत के बारे में जानकरी लेनी चाहिए, जैसे कंपनी के financial कैसे हैं, कंपनी अपने product बेच पा रही है या नहीं, कंपनी की सेल्स ग्रोथ कैसी है, साल दर साल कंपनी मुनाफा कमा रही है या घाटे में जा रही है, कंपनी के ऊपर कितना क़र्ज़ है इत्यादि कुछ महत्पूर्ण पैरामीटर हैं जिनके आधार पर आप किसी कंपनी के वित्तीय हालात की जानकारी ले पाएंगे | आइये इनमे से कुछ प्रमुख कंपनियों के बारे में जानते हैं |

Bata India

Market cap – ₹ 24,866 Cr

कंपनी के बारे में (About)

बाटा इंडिया मुख्य रूप से जूते, चप्पल, बेल्ट, पर्स और इससे जुड़े चमड़े के दुसरे उपकरण के निर्माण और व्यापार में लगी हुई है | यह कंपनी भारत में विश्व की अग्रणी Bata Corporation की एक सहायक कंपनी है जिसमे bata corporation की 53% की हिस्सेदारी है |

विश्व की अग्रणी फुटवियर कंपनी बाटा कॉर्पोरेशन की स्थापना वर्ष 1894 में चेक गणराज्य में हुई थी। कंपनी वॉल्यूम के हिसाब से दुनिया की अग्रणी जूते बनाने वाली कंपनी है, और इसकी 70 से अधिक देशों में 5,300 से अधिक दुकानों और 18 देशों में उत्पादन सुविधाओं की खुदरा उपस्थिति है। बाटा कॉर्पोरेशन ने वर्ष 1931 में भारत में प्रवेश किया और वर्ष 1973 में सार्वजनिक हुआ। bata india की तरह ही इसकी अलग – अलग देशों में और भी सहायक कंपनियां हैं जैसे – Bata Europe, Bata North America, Bata Asia-Pacific-Africa and Bata Latin America इत्यादि |

Manufacturing Facilities

कंपनी की चार विनिर्माण इकाइयां बटानगर (कोलकाता), बाटागंज (बिहार), पीन्या (बैंगलोर के पास) और होसुर (तमिलनाडु) में हैं। कंपनी के पास प्रति वर्ष 21 मिलियन फुटवियर का उत्पादन करने की क्षमता है |

Bata top Products

बाटा भारत में कई प्रमुख ब्रांडों के तहत उत्पाद बेचता है। इनके प्रमुख ब्रांड में शामिल हैं, बाटा, पावर, मैरी क्लेयर, नॉर्थ स्टार, नैचराइज़र, शोल, बाटा कॉम्फिट, वेनब्रेनर, एंबेसडर, मोकासिनो और हश पप्पीज़ इत्यादि।

कंपनी नेटवर्क

Bata India अलग – अलग शहरों में 1,526 स्टोर्स के साथ, फ्रैंचाइजी स्टोर्स सहित और पूरे भारत में 2.98 मिलियन वर्ग फुट का रिटेल स्पेस है। कंपनी ने वित्त वर्ष 2011 में 31.97 मिलियन फुटवियर बेचे |

Retail Business से कंपनी की लगभग 88% की आय आती है |

कंपनी ने ऑनलाइन चैनलों के माध्यम से 24 लाख जोड़ी फुटवियर बेचे और 1522 मिलियन रुपये का कारोबार हासिल किया। । बाटा इंडिया अब अपने स्टोर के माध्यम से प्राप्त 96% से अधिक ऑर्डर घर तक पहुचाता है । डिजिटल रूप से सक्षम प्लेटफॉर्म जैसे बाटा वेबसाइट और अन्य ऑनलाइन मार्केटप्लेस के माध्यम से बिक्री ने कुल राजस्व में 15% से अधिक का योगदान दिया।

Company financials (वित्तीय स्थिति)

अपने प्रतियोगी कंपनियों की तुलना में Bata India सबसे ज्यादा (PE 358) वैल्यूएशन पर ट्रेड कर रहा है जिसका कारण है कंपनी की सालों से दी जा रही दमदार प्रदर्शन |

मार्च 2021 को छोड़ दे तो बाटा का शेयर पिछले कई सालों से लगातार 25 % (लगभग) का ROCE (Return on capital) दे रहा है |

कंपनी के पास 1614 करोड़ का रिज़र्व पड़ा है और इसके ऊपर 914 करोड़ का क़र्ज़ है, कुछ साल पहले कंपनी क़र्ज़ मुक्त थी |

कंपनी में प्रमोटर की हिस्सेदारी 52.96 % है जबकि DIIS की हिस्सेदारी 27.46 % है |

Bata share price target 2022, 2025, 2030

कंपनी के फाइनेंसियल को देखे तो आने वाले समय के लिए Bata share price target होगा –

Bata India Share Current Price1935
  
Bata share price target 20222250
  
Bata share price target 20253900
  
Bata share price target 20309670
  

Relaxo Footwear

Market Cap – ₹ 25,921 Cr

कंपनी के बारे में (About)

रिलैक्सो फुटवियर्स लिमिटेड भारत की सबसे बड़ी फुटवियर निर्माण कंपनी है, जो गैर-चमड़े के उत्पादों यानी रबर/ईवा चप्पल, कैनवास के जूते, खेल के जूते, सैंडल, स्कूल के जूते और अन्य प्रकार के जूते का कारोबार करती है। यह ‘वैल्यू’ सेगमेंट के फुटवियर में भी अग्रणी है।

इसमें रिलैक्सो, स्पार्क्स, फ्लाइट और बहामास जैसे प्रसिद्ध ब्रांडों का पोर्टफोलियो है। कंपनी अपने उत्पादों को वितरकों, खुदरा दुकानों, निर्यात और ई-कॉमर्स / आधुनिक व्यापार के माध्यम से सेवा देने वाले खुदरा विक्रेताओं के माध्यम से बेचती है।

पिछले कुछ सालों में देखे तो Relaxo अपने ब्रांड को बाकि पतियोगी कंपनी के मुकाबले बहुत ही तेजी के साथ फ़ैलाने में कामियाब हुआ हैं। विज्ञापन में भी Relaxo बड़े बड़े सेलिब्रिटी अपने ब्रांड की प्रमोशन के लिए अच्छी मात्रा में इन्वेस्टमेंट करते देखने को मिलता है, जिस वजह से तेजी से भारतीय मार्किट में Relaxo मजबूत ब्रांड के रूप पहचान बनाने में कामियाब होते नजर आ रहा हैं।

कंपनी नेटवर्क

लगातार Relaxo अपने प्रोडक्ट की डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क को बेहतर बनाने के लिए पूरी फोकस में लगी हैं। अभी के समय कंपनी पुरे देशभर में लगभग 50,000 से भी ज्यादा retailers, ~700 distributors & ~400 EBOs के साथ जुड़ा हुआ हैं, धीरे धीरे कंपनी अपने खुद के स्टोर बढ़ाने के साथ ही हर जगह फ्रेंचाइजी को बढ़ाने पर पूरी फोकस करते नजर आ रहा हैं।कंपनी की बिक्री का सबसे बड़ा हिस्सा उत्तर भारत से आता है जो राजस्व का 50% से अधिक का हिस्सा है।

विनिर्माण इकाईयाँ (Manufacturing facilities)

इसकी 8 अत्याधुनिक विनिर्माण सुविधाएं हैं, बहादुरगढ़ (हरियाणा) में पांच, भिवाड़ी (राजस्थान) में दो और हरिद्वार (उत्तराखंड) में एक है। इसकी 27 करोड़ जोड़े प्रति वर्ष की संयुक्त विनिर्माण क्षमता है जो भारत में अपने प्रमुख प्रतिस्पर्धियों की तुलना में सबसे बड़ी है। कंपनी के पोर्टफोलियो में 9 ब्रांड हैं |

बदलते समय के साथ चलने के लिए, कंपनी ने अपने जूते ऑनलाइन बेचने के लिए प्रमुख ई-कॉमर्स पोर्टलों के साथ करार किया है। इसके उत्पाद पोर्टफोलियो का 70% से अधिक अपने ग्राहकों के लिए ऑनलाइन सूचीबद्ध है।

विश्लेषको का मानना है की युवाओं में ब्रांडेड प्रोडक्ट को लेकर डिमांड को देखते हुवे Footwear मार्किट आनेवाले समय में लगभग 11 से लेके 15 पतिशत CAGR ग्रोथ दिखाने की उम्मीद बनते नजर आ रही हैं। Relaxo अपने Footwear बिज़नस सेगमेंट में मार्किट लीडर ब्रांड होने के कारण आनेवाले समय में बढ़ती हुई मार्किट में अच्छी ग्रोथ दिखाने की पूरी क्षमता रखता है ।

Company Financials

कंपनी के financial देखे तो कंपनी का मार्केट कैप ₹ 25,921 Cr है और कंपनी 95 के PE पर ट्रेड कर रही है |

कंपनी के पास 1586 करोड़ का रिज़र्व पड़ा हुवा है और कंपनी लगभग क़र्ज़ मुक्त है |

पिछले 10 सालों से कंपनी लगभग 25-30% का ROCE दे रही है |

कंपनी में प्रमोटर की हिस्सेदारी 70.78% है |

Relaxo Footwears हर साल अपने बिज़नस में मार्किट शेयर को बढ़ाने के साथ ही Financial रिजल्ट में भी अच्छी ग्रोथ लगातार दिखाते नजर आ रहा हैं। FY 2021 से कंपनी के पिछले 3 सालों का प्रॉफिट ग्रोथ लगभग 21 पतिशत CAGR ग्रोथ दिखाने में कामियाब हुआ हैं। कंपनी लम्बे समय से लगातार बेहतरीन रिजल्ट पेश करने के चलते आनेवाले दिनों में भी अच्छी ग्रोथ दिखाने की पूरी उम्मीद किया जा सकता हैं।

Relaxo के ऊपर कर्ज देखे तो बिल्कुल ना के बराबर ही देखने को मिलता है, जितना भी कर्ज है मैनेजमेंट जब चाहे आसानी से अपने कैश रिज़र्व की पैसे से सुका सकता हैं।

Relaxo  Share price target 2022, 2025, 2030

कंपनी के फाइनेंसियल को देखे तो आने वाले समय के लिए Relaxo share price target होगा –

Relaxo Share Current Price1040
  
Relaxo share price target 20221200
  
Relaxo share price target 20252100
  
Relaxo share price target 20305100
  

Mirza International Ltd

Market cap – ₹ 1,943 Cr

कंपनी के बारे में (About)

1979 में स्थापित, मिर्जा इंटरनेशनल लिमिटेड भारत की अग्रणी चमड़े के जूते बनाने वाली , बेचने वाली और निर्यात करने वाली कंपनी (leather footwear manufacturer, marketer and exporter) है | यह रेड टेप, ओकट्रैक, मोड और बॉन्ड स्ट्रीट (Red Tape, oaktrak, MODE & Bond Street) जैसे प्रसिद्ध ब्रांडों के पोर्टफोलियो का मालिक है।

यह अग्रणी अंतरराष्ट्रीय ब्रांडों के लिए चमड़े के जूते का पसंदीदा आपूर्तिकर्ता भी है और विदेशी बाजारों में तैयार चमड़े के सबसे बड़े भारतीय suppliers में से एक है।

कंपनी अपने राजस्व का अधिकांश हिस्सा भारत से 58%, यूके – 28%, यूएस – 7% और ROW – 7% प्राप्त करती है। यह अपने उत्पादों को कुल 29 देशों में निर्यात करता है।

निर्यात बिक्री के कुल 42% योगदान में से केवल 4% कंपनी के अपने ब्रांड RED TAPE के कारण था। अधिकांश निर्यात बिक्री सफेद लेबल वाले जूते बेचने से हुई।

33% राजस्व ब्रांडेड जूते बेचने से आया। 40% रेवेन्यू नॉन-ब्रांडेड फुटवियर से आया। 22% राजस्व में परिधान और सहायक उपकरण का योगदान था और चमड़े की बिक्री शेष बिक्री का केवल 5% थी।

विनिर्माण क्षमता

कंपनी के पास उत्तर प्रदेश राज्य में 6 विनिर्माण सुविधाएं हैं जो प्रति वर्ष 6.4 मिलियन जोड़ी फुटवियर का उत्पादन कर सकती हैं। कंपनी ने FY20 में 77.5% क्षमता उपयोग हासिल किया।

RED TAPE ब्रांड की बढ़ती उपस्थिति।

रेड टेप घरेलू कारोबार 2015 में लगभग 140 करोड़ से बढ़कर 2020 में 650 करोड़ हो गया है। भारत में इसका विपणन 200+ ईबीओ और 830+ एमबीओ के नेटवर्क के माध्यम से कई शहरों में 210+ शॉप-इन-शॉप में उपस्थिति के साथ किया गया है।

ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म से 32% बिक्री [5] कंपनी ने प्रमुख ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर अपनी उपस्थिति बढ़ाने के लिए प्रमुख ऑनलाइन ई-कॉमर्स खिलाड़ियों जैसे Myntra, Flipkart, Amazon, आदि के साथ करार किया है। यह नोएडा में एक सीधा ई-कॉमर्स डिवीजन संचालित करता है जो विशेष रूप से इस तेजी से बढ़ते सेगमेंट को पूरा करता है।

Company Financials

कंपनी का मार्केट कैप ₹ 1,943 Cr है |

शेयर अपने बुक वैल्यू के 2.87 गुना पर कारोबार कर रहा है |

कंपनी ने पिछले पांच वर्षों में 2.49% की खराब सेल्स ग्रोथ दी है।

पिछले 3 वर्षों से कंपनी का इक्विटी पर 5.63% का कम रिटर्न है।

पिछले 3 वर्षों में कंपनी ने लाभ की तुलना में कम लाभांश का भुगतान किया है |

कंपनी के पास 654 करोड़ का रिज़र्व पड़ा है और 113 करोड़ का क़र्ज़ है |

कंपनी में प्रमोटर की भागीदारी 67.91 % है |

Mirza International Share price target 2022, 2025, 2030

कंपनी के फाइनेंसियल को देखे तो आने वाले समय के लिए Mirza International share price target होगा –

Mirza International  Share Current Price161
  
Mirza International  share price target 2022180
  
Mirza International  share price target 2025273
  
 Mirza International  share price target 2030550
  

FAQ (प्रश्न – उत्तर)

क्या Bata India एक विदेशी कंपनी है |

जी हाँ, Bata India एक विदेशी कंपनी Bata Corporation का हिस्सा है जिसकी Bata India में 53% की हिस्सेदारी है |

Bata India और Relaxo Footwear में कौन से कंपनी बड़ी है ?

दोनों कंपनियों के मार्केट कैप देखें तो bata india का मार्केट कैप ₹ 24,866 Cr (मार्च 2021 तक) है और Relaxo footwear का मार्केट कैप  ₹ 25,921 Cr है तो इसके अनुसार Relaxo footwear ज्यादा बड़ी हुई |

Disclaimer : – इस शेयर पर यह हमारी निजी राय है जिसे हमने अपने analysis के आधार पर निकाला है, शेयर बाज़ार में निवेश करना जोखिम भरा हो सकता है, कृपया निवेश करने से पहले अपने वित्तीय सलाहकार की मदद अवस्य लें |

 इस लेख में प्रयोग हुवे इमेज पर हमारा कोई आधिकार नहीं है इसका  sourcetradingview.com है |

Leave a Comment

Pin It on Pinterest

Stock market latest news : जाने-माने Fund Manager Nilesh Shah ने बताया गिरावट की मुख्य वजह Vijay Kedia latest news : इन लोगों ने शेयर बाज़ार को जुवारियों का अड्डा बना दिया Aether Industries IPO: मुख्य बाते जो आपको जानी चाहिए इस Crypto Currency ने डुबाये निवेशकों के 40 बिलियन रूपये, Crypto Currency में निवेश करना कितना सुरक्षित Grubhub free lunch: Free lunch for NYC office workers on 17th May , use the promo code