पैनी स्टॉक्स क्या होते हैं ? (Why new investor should be away from penny stocks)

penny stocks

Penny stocks  ऐसे शेयर होते हैं जिनकी प्राइस और मार्केट केपीटलाइजेशन (Market cap) बहुत ही कम होता है । आमतौर पर  जिन  stocks की प्राइस 20 -25 रूपये  से कम होती है उन्हें पेनी स्टॉक्स कहा जाता है ।

अधिकतर   नए trader  और investor पेनी स्टॉक्स (Penny stocks) को चुनना पसंद करते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि अगर वह 50,000 कैपिटल के साथ 1000  रुपए का शेयर खरीदेंगे  तो  वे सिर्फ 50   शेयर ही वे खरीद पाएंगे,  परंतु अगर वे  4-5  रुपए का पेनी स्टॉक्स खरीदते हैं तो वे  10000-12000  शेयर खरीद पाएंगे,  और अगर 4-5 रुपए  वाला शेयर  7-8 रुपए भी हो जाता है  तो उन्हें कम समय में अच्छा मुनाफा होगा ।  यह सोच पूरी तरह से गलत है क्योंकि पेनी स्टॉक्स बेकार होते हैं |

open demat account

इसका मतलब यह नहीं होता कि ज्यादा प्राइस वाले   शेयर अच्छे होते हैं । कोई शेयर अच्छा है या नहीं यह पूरी तरह से उस कंपनी और उसके फंडामेंटल्स (fundamentals) के आधार पर तय होता है । परंतु सिर्फ शेयर का प्राइस देखकर उसे  उसे खरीदना सही नहीं है ।

पैनी स्टॉक्स क्या होते हैं (What are Penny stocks)

बहुत से लोग समझते हैं कि जिस कंपनी के शेयर की प्राइस सबसे ज्यादा होगी वह कंपनी उतनी ही बड़ी होगी  और जिस कंपनी के  शेयर की प्राइस  कम होगी वह कंपनी भी छोटी होगी परंतु ऐसा नहीं है ।

 उदाहरण के लिए हम दो कंपनियों को लेते हैं पहली कंपनी  ABC है जिस के शेयर की कीमत 20000 रुपए  के आसपास है । और दूसरी कंपनी xyz है जिसके एक शेयर की कीमत 400 रुपए  के आसपास है  ।

 कंपनी का  M-Cap  = कंपनी के 1 शेयर की कीमत × बाजार में जारी कुल शेयरों की संख्या (No of Outstanding shares )

M- Cap of ABC = 2000 × 1000  = 200,0000 rupees (20 लाख रूपये)

M-Cap of xyz = 400 × 100000 = 400,00000 rupees  (4 करोड़ रूपये)

यहां पर हमें कंपनी का size पता करने के लिए  दोनों कंपनियों के  मार्केट केपीटलाइजेशन (Market Capitalization) के बारे में पता होना चाहिए, जिस कंपनी का मार्केट केपीटलाइजेशन (Market Cap) जितना ज्यादा होगा वह कंपनी उतनी ही बड़ी मानी जाएगी ।

यहां पर मार्केट केपीटलाइजेशन  पता के लिए उसके एक शेयर की कीमत को उस कंपनी के बाजार में जारी कुल शेयरों की संख्या (No of Outstanding shares ) से गुना किया जाता है तो उस कंपनी का  मार्केट कैपिटल का पता चल जाता है ।

  इस प्रकार हम देख सकते हैं xyz के शेयर की कीमत ABC के शेयर की कीमत से कम रहने के बावजूद भी  xyz,  ABC से बड़ी कंपनी है । इसलिए आपको  शेयर के प्राइस की बजाए कंपनी के products ,  fundamentals और कंपनी के size पर ध्यान देना चाहिए ।



Penny Stocks चुनते समय किन बातो का ध्यान रखे ?

जब पेनी स्टॉक्स की बात आती है तो आपको सबसे पहले यह देखना होगा कि वह स्टॉक पेनी स्टॉक क्यों है इसके लिए आपको कंपनी के फंडामेंटल्स को देखना होगा उसके बैकग्राउंड के बारे में पता लगाना होगा और उस कंपनी के प्रोडक्ट के बारे में भी पता लगाना होगा इन सभी  के बारे में आपको पूरी तरह से  deep reaearch और analysis करना पड़ेगा  ।

 कुछ पेनी स्टॉक्स ऐसे हैं जिन्हें अगर आप बेचने की कोशिश करेंगे तो आप को बड़ी मुश्किल से  खरीदार मिलेंगे । ऐसे पेनी स्टॉक्स बहुत ही कम लिक्विड्स (liquids) होते हैं ।


कुछ पेनी स्टॉक्स ऐसे भी होते हैं जो आपके छोटे इन्वेस्टमेंट को एक   बड़े  कैपिटल में बदल सकते हैं ।  उदाहरण के लिए
राकेश झुनझुनवाला ने 2,000 -2003 में  में 4.5 रुपए   के एवरेज प्राइस (average price) पर  Titan  में निवेश किया था जो आज ज्वेलरी की एक बहुत बड़ी  कंपनी है ।  और इस समय टाइटन के शेयर की कीमत 1000 से भी ऊपर हो गई है । मतलब उनके इस निवेश ने उन्हें कई गुना का रिटर्न दिया है ।

 इसका मतलब यह नहीं है कि सभी पेनी स्टॉक्स मल्टीबैगर (multibagger) निकलेंगे ।  कहीं गलती से आपने किसी गलत पेनी स्टॉक में अपना निवेश कर दिया हो तो आपका निवेश  ख़त्म भी हो सकता है ।
इसलिए आपको एक अच्छा पेनी स्टॉक ढूंढने के लिए दूसरे  स्टॉक्स की तुलना में   बहुत ज्यादा मेहनत करनी पड़ेगी । और इन कंपनियों पर  अच्छी तरह से रिसर्च करनी पड़ेगी ।

 बहुत सारी पेनी स्टॉक्स कंपनियां इतनी छोटी होती हैं कि उनके बारे में तमाम  जानकारी जुटा पाना बहुत मुश्किल होता है,  और ऐसे स्टॉक्स में इलीगल एक्टिविटीज (illegal activities) होने का भी खतरा बना रहता है । ऐसे पेनी स्टॉक्स में निवेश करना बहुत ही जोखिम भरा काम होता है ।

इसलिए आपको अगर स्टॉक मार्केट की   समझ नहीं है तो आपको पेनी स्टॉक्स से दूर ही रहना चाहिए या फिर भी अगर आप इन्वेस्ट करना चाहते हैं तो का एक छोटा सा अमाउंट इन्वेस्ट करें ।  और ऐसे लोगों से दूर रहें जो कहते हैं हर  स्टॉक शुरुआत में या कभी ना कभी एक पेनी स्टॉक था ऐसा नहीं होता किसी भी शेयर की प्राइस उसकी आईपीओ (IPO) द्वारा निर्धारित होती है । इसलिए आप जो भी पैसा (capital) निवेश कर रहे हैं वह आपके मेहनत की कमाई है इसलिए सोच समझकर इन्वेस्ट करें ।


यह पोस्ट आपको कैसा लगा नीचे कमेंट सेक्शन में अपने मूल्यवान विचार अवश्य लिखें , धन्यवाद ।

Leave a Reply

*

Pin It on Pinterest